Sharad Yadav Dies: शरद यादव की देर रात निधन, देश के बड़े नेताओं ने दी श्रद्धांजली

0
22
Sharad Yadav Dies: शरद यादव की देर रात निधन, देश के बड़े नेताओं ने दी श्रद्धांजली
Sharad Yadav Dies: शरद यादव की देर रात निधन, देश के बड़े नेताओं ने दी श्रद्धांजली

Sharad Yadav Dies: जनता दल यूनाइटेड (JDU) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का 12 जनवरी की देर रात करीब 9:30 बजे निधन हो गया. इसकी सूचना गुरुवार की रात उनकी बेटी सुभाषिनी शरद यादव ने ट्वीट कर दी.

फोर्टिस अस्पताल की ओर से जारी बयान के अनुसार शरद यादव को अचेत अवस्था में अस्पताल लाया गया था. उनकी शरीर में कोई मूवमेंट नहीं थी. एसीएलएस प्रोटोकॉल के तहत उन्हें सीपीआर दिया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका.

शरद यादव के निधन पर नेताओं के शोक संदेश

शरद यादव के निधन पर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री समेत तमाम नेताओं ने शोक व्यक्त किया है.

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने एक ट्वीट किया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए लड़ने वाले सत्तर के दशक के छात्र नेता शरद जी संसद में वंचितों की एक महत्वपूर्ण राष्ट्रीय आवाज थे. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि शरद यादव जी के निधन से बहुत दुख हुआ. अपने लंबे सार्वजनिक जीवन में उन्होंने खुद को सांसद और मंत्री के रूप में प्रतिष्ठित किया. वे डॉ. लोहिया के आदर्शों से काफी प्रभावित थे. मैं हमेशा हमारी बातचीत को संजोकर रखूंगा. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदनाएं. शांति.

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने अपने शोक संदेश में कहा कि वरिष्ठ राजनेता, पूर्व सांसद शरद यादव जी के निधन पर शोक व्यक्त करता हूं. वे विलक्षण प्रतिभा वाले महान समाजवादी नेता थे जिन्होंने वंचितों–शोषितों के दर्द को दूर करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. उनका निधन समाजवादी आंदोलन के लिए बड़ी क्षति है. परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट में लिखा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं देश के बड़े वरिष्ठ नेता शरद यादव जी के निधन से मुझे गहरी वेदना की अनुभूति हुई है. अपने लंबे राजनीतिक जीवन में उन्होंने हमेशा समाज के कमज़ोर वर्गों की समस्याओं को पुरज़ोर तरीक़े से उठाया. आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की रक्षा के लिए भी उन्होंने काफ़ी संघर्ष किया. उनके निधन से भारतीय राजनीति की एक प्रभावी आवाज़ ख़ामोश हो गई है.

उन्होंने आगे कहा कि शरदजी के साथ मेरा बड़ा लंबा और बेहद आत्मीय संबंध रहा है. स्वभाव से बेहद सरल और बेबाक़ शरदजी का निधन एक बड़ी क्षति है. दुःख की इस घड़ी में मैं उनके शोकाकुल परिवार और समर्थकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूँ. ओम् शांति!

शरद यादव के निधन पर शोक व्‍यक्‍त करते राहुल गांधी
शरद यादव के निधन पर शोक व्‍यक्‍त करते राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने ट्वीट किया कि देश की समाजवादी धारा के वरिष्ठ नेता, जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष, शरद यादव जी के निधन से दुःखी हूं. एक पूर्व केंद्रीय मंत्री व दशकों तक एक उत्कृष्ट सांसद के तौर पर देश सेवा का कार्य कर, उन्होंने समानता की राजनीति को मज़बूत किया. उनके परिवार एवं समर्थकों को मेरी गहरी संवेदनाएँ.

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शरद यादव के निधन पर ट्वीट कर शोक प्रकट किया. उन्होंने लिखा कि महान समाजवादी नेता आदरणीय शरद यादव जी का निधन अत्यंत हृदय विदारक है. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें. ॐ शांति.

उल्लेखनीय है कि जनता दल यूनाइडेट (जदयू) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का गुरुवार को निधन हो गया है. वे 75 वर्ष के थे. गुरुग्राम के फ़ोर्टीस अस्पताल में उन्होंने आख़िरी सांस ली.

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2017 में जेडीयू से उनका मतभेद हो गया था जिसके बाद उन्होंने वर्ष 2018 में लोकतांत्रिक जनता दल (एलजेडी) पार्टी बनाई. शरद यादव ने 1999 और 2004 के बीच अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में विभिन्न मंत्रालयों में कैबिनेट मंत्री का जिम्मा संभाला था. वह सात बार लोकसभा और तीन बार राज्यसभा सांसद रहे.

Leave a Reply