वैज्ञानिकों ने चेताया – कोरोना को हल्के में ना लें, संक्रमितों की संख्या जल्द हो सकती है छह गुना अधिक

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर जारी है. दुनिया भर में अब तक कोरोना से 5.67 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं कोरोना वायरस से 13.57 लाख से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. वहीं, अब वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 से दुनिया भर में अब तक संक्रमित हुए लोगों की संख्या की तुलना में कोरोना मरीजों की संख्या में छह गुना का इजाफा हो सकता है. ऐसे में अगर आप भी कोरोना वायरस से बचाव संबंधी नियमों में लापरवाही बरत रहे हैं, तो सावधान हो जाइए. 

वैज्ञानिकों ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण वैश्विक संक्रमणों की वास्तविक संख्या अब तक ज्ञात मामलों की तुलना में छह गुना तक अधिक हो सकती है.

इन देशों में संक्रमण दर बहुत अधिक 

ऑस्ट्रेलियाई नेशनल यूनिवर्सिटी (एएनयू) और यूनिवर्सिटी ऑफ मेलबर्न के शोधकर्ताओं के अनुसार, मार्च और अगस्त के दौरान 15 देशों में संक्रमण की दर दर्ज मामलों की तुलना में औसतन 6.2 गुना अधिक थी. रॉयल सोसाइटी ओपन साइंस नामक पत्रिका में प्रकाशित रिपोर्ट के अुनसार, ब्रिटेन, फ्रांस, बेल्जियम और इटली में कोरोना वायरस संक्रमण दर ज्ञात मामलों की तुलना में बहुत अधिक है तथा इटली के मामले में तो यह 17 गुना अधिक है.

ऑस्ट्रेलिया में संक्रमण की दर पांच गुना बढ़ सकती है 

अध्ययन में कहा गया कि अप्रैल के अंत में 15 देशों के बीच ऑस्ट्रेलिया में संक्रमण का पता लगाने का सबसे अच्छा स्तर था. लेकिन संक्रमण की दर अब भी अगस्त के अंत में आधिकारिक तौर पर बताई गई संख्या की तुलना में पांच गुना अधिक हो सकती है.

शोधकर्ताओं ने कहा कि अध्ययन में 11 यूरोपीय देशों के 80 करोड़ से अधिक लोगों की संयुक्त आबादी के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, दक्षिण कोरिया और अमेरिका में संक्रमण की सही संख्या का अनुमान लगाया गया है.

आठ प्रतिशत आबादी कोरोना संक्रमित

अध्ययन के सह-लेखक और एएनयू के प्रोफेसर क्वेंटिन ग्राफटन ने कहा कि हमने पाया कि कई देशों में संक्रमण की पुष्टि किए गए मामलों की तुलना में संक्रमण बहुत अधिक है. यह संक्रमण पर नियंत्रण और अनुमान दोनों के लिए महत्वपूर्ण है. उन्होंने उदाहरण के लिए ब्रिटेन का जिक्र किया और कहा कि हमारे विश्लेषण में ब्रिटेन में 54 लाख से अधिक लोग यानी आठ प्रतिशत आबादी कोरोना वायरस से संक्रमित है या पहले संक्रमित हो चुकी है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.