Hemant Soren सरकार की कार्यशैली से Saryu Roy का मिजाज गरम, झारखंड विधानसभा में दिया विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव

by

Ranchi: Hemant Soren, Saryu Roy, Jharkhand Assembly जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय (Saryu Roy) ने विधानसभा में विधायकों द्वारा पूछे गये सवालों के एवज में सचिवों की सलाह पर गलत और गुमराह करनेवाले उत्तर दिए जाने का आरोप लगाते हुए विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव दिया है. विधानसभा अध्यक्ष ने उनके प्रस्ताव पर सोमवार को विचार करने की बात भी कही है. पूर्व मंत्री ने यह भी आरोप लगाया कि खान विभाग के अधिकारी विधानसभा समितियों के विशेषाधिकार का हनन करते हैं.

जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने विधानसभा सत्र के दौरान यह आरोप लगाया कि कुछ सचिवों के निर्देश पर विभाग विधायकों के प्रश्नों का गलत और गुमराह करनेवाला उत्तर देता है. इसे विशेषाधिकार हनन का मामला बताते हुए सरयू राय ने विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव विधानसभा अध्यक्ष को दिया है.

सरयू राय ने बुधवार को ही शून्यकाल के बाद विधान सभा अध्यक्ष से निवेदन किया कि उनकी विशेषाधिकार सूचना को स्वीकार कर इस पर सदन में विचार हो. विधानसभा अध्यक्ष ने उन्हें आश्वस्त किया कि इसपर सोमवार को विचार होगा. राय ने विशेषाधिकार सूचना में खान विभाग द्वारा विधान सभा में उनके प्रश्नों का गलत और बेबुनियाद उत्तर देने का उल्लेख भी किया है. उन्होंने यह भी कहा है कि खान विभाग के अधिकारी विधान सभा समितियों का भी विशेषाधिकार हनन करते हैं.

अधिक उत्पादन पर उठाया था सवाल

सरयू राय ने अपने सवाल में पूछा था कि क्या ओएमएम कंपनी ने 2009-10 में पर्यावरण स्वीकृति की सीमा से अधिक उत्पादन किया है. इसके साथ ही उनका सवाल यह भी था कि क्या पश्चिम सिंहभूम के तत्कालीन उपायुक्त ने जिला खनन पदाधिकारी को निर्देश दिया था कि अधिक उत्पादन की मात्रा को 2012-13 और 2013-14 के उत्पादन के साथ समायोजित कर लिया जाए. ऐसे मामलों में उपायुक्त के पास समायोजन का अधिकार होता है या नहीं, सवाल के जवाब में विभाग की ओर से बताया गया है कि नियम के अनुसार जुर्माना की वसूली की जाती है. अधिकार के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.