नर्मदा गौ-कुंभ में आज से संत समागम, लगा साधु-संतों का जमावड़ा

by

Jabalpur (MP) : मध्यप्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर में आयोजित नर्मदा गौ-कुंभ (Narmada Gau-Kumbh News) में साधु-संतों का जमावड़ा लगा हुआ है. यहां हजारों की संख्या में साधु-संत जगह-जगह धूनी रमाये हुए हैं. यहां विभिन्न पंथों और अखाड़ों के साधु-संत पहुंच चुके हैं और आयोजन के माध्यम से लोगों को धर्म और आध्यात्म का संदेश दे रहे हैं.

नर्मदा गौ-कुंभ के तृतीय दिवस बुधवार से संत समागम सहित अन्य धार्मिक आयोजन प्रारंभ हो जायेंगे, जिनमें संत प्रवर अपनी वाणी से श्रद्धालुओं को कृतार्थ करेंगे. समागम में मां नर्मदा की स्वच्छता और सुरक्षा पर भी गहन विचार-विमर्श किया जायेगा.

बुधवार से प्रतिदिन सुबह से दोपहर तक श्री नर्मदा महायज्ञ, महारुद्र यज्ञ एवं गोपुष्टि महायज्ञ के कार्यक्रम होंगे.

पूर्वान्ह् 11.30 बजे से 3 बजे तक श्रीमद् भागवत कथा प्रवक्ता आचार्य इंद्रेश उपाध्याय श्रीमद् भागवत कथा पर प्रवचन देंगे. प्रतिदिन पूर्वान्ह् 3 बजे से सायं 7 बजे तक संत समागम होगा. सायं 7 बजे से रात्रि 8 बजे तक महाआरती होगी. इसी के साथ श्री नर्मदा महायज्ञ, महारुद्र यज्ञ एवं गोपुष्टि महायज्ञ भी प्रारंभ होंगे.

Read Also  लोगों की बुनियादी समस्याएं हमारी प्राथमिकता - अपना दल (एस) समर्थित निर्दलीय महापौर प्रत्यासी कैलाश गावंडे

अद्भुत है रात का नजारा

कुंभ प्रांगण में विविध रंगों की विद्युत साज-सज्जा ने दृश्य को रात में अद्भुत बना दिया है. वहीं प्रवेश द्वार के निकट विराजे भोलेनाथ आस्था को और बढ़ा रहे हैं. बुधवार को महामंडलेश्वर शांति स्वरूपानंद महाराज, जगद्गुरु शंकराचार्य भानुपुरा पीठाधीश्वर स्वामी ज्ञानानंद महाराज एवं महामंडलेश्वर गौरीशंकर महाराज का आगमन होगा.

नि:शुल्क इंतजाम

जिला प्रशासन, नगर निगम, पुलिस प्रशासन एवं स्मार्ट सिटी के अमले ने संयुक्त रूप पुख्ता इंतजाम किये गये हैं. कुंभ क्षेत्र तक आने-जाने के लिये जबलपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लिमिटेड द्वारा कुंभ स्थल तक आने-जाने के लिये की गयी मेट्रो बसों की नि:शुल्क व्यवस्था को सभी ने सराहा.

शहर और ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग इन बसों से कुंभ पहुंचे. वहीं, ई -रिक्शों ने भी श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या को कुंभ तक पहुंचाया. सभी को आयोजन स्थल तक सुविधाजनक तरीके से पहुंचने के लिये ये व्यवस्थायें कारगर साबित हुर्इं और सभी ने इन्हें सराहा.

Read Also  लोगों की बुनियादी समस्याएं हमारी प्राथमिकता - अपना दल (एस) समर्थित निर्दलीय महापौर प्रत्यासी कैलाश गावंडे

श्रद्धालुओं के लिये भोजन व्यवस्था

श्रद्धालुओं को बेहतर भोजन उपलब्ध कराने के लिये टीमें तैनात की गयी हैं. मुख्य रूप से दो भोजशालायें बनाई गयीं हैं. पहले पंडाल में साधु-संतों के साथ चलने वाले लोग भोजन कर रहे हैं तो दूसरे में आम जनता के लिये भोजन सहज-सुलभ कराया गया है. सुबह नाश्ते के साथ दोपहर और रात्रि भोजन की व्यवस्था का सभी जन लाभ उठा रहे हैं. एक अन्य भोजशाला भी है, जिसमें साधु-संतों के लिये भोजन की व्यवस्था की गयी है.

नर्मदा गौ कुम्भ, ग्वारीघाट में नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक से लेकर भरूच में खंबात की खाड़ी में इसके मिलने तक स्थानीय संस्कृति, घाटों और धार्मिक स्थलों की लगाई गई चित्र प्रदर्शनी श्रृद्धालुओं के बीच आकर्षण का केंद्र बनी हुई है . प्रदर्शनी में प्लाईवुड, थर्माकोल और रंगों से माँ नर्मदा के विभिन्न स्वरूपों का आकर्षक रूप में चित्रांकन किया गया है.

Read Also  लोगों की बुनियादी समस्याएं हमारी प्राथमिकता - अपना दल (एस) समर्थित निर्दलीय महापौर प्रत्यासी कैलाश गावंडे

प्रदर्शनी में बताया गया है कि किस तरह से नर्मदा अमरकंटक से अविरल प्रवाहित होकर भरूच तक पहुँची है. अमरकंटक से लेकर भरूच तक के सभी प्रमुख घाटों का इसमें समावेश किया गया है. साथ ही स्थानीय संस्कृति और पंरपराओं को भी इस प्रदर्शनी में दिखाया गया है.

प्रदर्शनी देखने वालों से यह अपील भी की जा रही है कि वे नर्मदा को स्वच्छ बनाये रखने में किस तरह सहयोग कर सकते हैं. यहां कलाकारों द्वारा अपनी कला का शानदार प्रदर्शन किया गया है. जिसमें नर्मदा के उद्गम से लेकर भरूच तक पहुंचने का सारा वृत्तांत है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.