रांची हिंसा का सहारनपुर से है कनेक्‍शन, जांच में हो सकते हैं कई खुलासे

by

Ranchi: रांची के अलावे खूंटी और दूसरे शहरों में भी उपद्रव करने की योजना थी. इसके लिए 4 जून से ही प्‍लॉट तैयार किया जा रहा था. युवाओं को भड़काने के लिए यूपी सहारनपुर से 12 लोगों की टीम पहुंची हुई थी. रांची से प्रकाशित होने वाले एक अखबार ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि चार जून से ही उपद्रव की तैयारी चल रही थी. सहारनपुर से आये लोग अलग-अलग लॉज और होटल में ठहरे हुए थे. इन्‍होंने तीन टीम बनाकर योजना तैयार की. इनकी एक टीम खूंटी भी गई थी. वहां से लौटकर इलाहीनगर, हिंदपीढ़ी और गुदड़ी में बैठककर  जुलुस निकालने और हिंसक प्रदर्शन के लिए स्‍थानीय लोगों को भड़काया गया.

Read Also  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को कोर्ट में लगानी होगी हाजिरी

कुछ लोगों ने आपत्ति की तो 16 से 24 साल के युवाओं को फांसना शुरू कर दिया. वे बहकावे में आ गए और उपद्रव का रूपरेखा तैयार कर लिया गया. अखबार ने लिखा है कि हिंसा के पीछे एक झामुमो कार्यकर्ता और पानी व्‍यवसाई का नाम भी आ रहा है. पूलिस पूछताछ कर रही है.

कौम का हवाला देकर भड़काया

सहारनपुर से आई टीम के लोगों ने कई जगहों पर बैठकें की थीं. उन्‍होंने कहा कि यूपी में कौम को परेशान किया जा रहा है. हमें अपनी ताकत दिखानी होगी. पूरे देश में नमाज के बाद प्रदर्शन होंगे. यहां भी पूरी मजबूती के साथ हमें विरोध करना है. सभी मस्जिदों से जुलूस निकाले जायें. पर सहमति नहीं बनी.

सोशल मीडिया पर वायरस किया मैसेज

समझदार लोग तैयार नहीं हुए तो कुछ स्‍थानीय छुटभैयों की मदद की. इनकी मदद से युवाओं को फांसा गया. इन्‍हें अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने का जिम्‍मा दिया गया.  उसके बाद सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल किया गया कि शुक्रवार को नमाज के बाद डोरंडा रिसालदार बाबा मैदान, राजेंद्र चौक, रतन टॉकिज और छोटा तालाब के पास इकट्ठा हों. नुपूर शर्मा का पूतला फूंकना है. काला बिल्‍ला लगाकर आएं.

Read Also  ओड़िशा दौरे पर युवा राजद प्रदेश प्रभारी:विशु विशाल यादव

दुकानें बंद कराई, इंट पत्‍थर जुटाए

यूपी से आई टीम और कुछ स्‍थानीय लोगों ने गुरूवार को ही दुकानदारों को दुकानें बंद रखने के लिए तैयार कर लिया, ताकि प्रदर्शन में ज्‍यादा लोग शामिल हो सकें और उनके दुकानों को नुकसान भी न हों. इंट-पत्‍थर भी जुटा लिये गए. उसे तोड़कर कई स्‍थानों पर रखा गया. ताकि छोटी इंटें दूर तक फेंकी जा सके.

अमन पसंदों की बात नहीं मानी

मुस्लिम समाज के लोगों को विरोध की तैयारी की भनक लग गई थी. एदार-ए-शरीया और इमारत-ए-शरीया ने आह्वान किया कि नमाज के बाद जुलूस नहीं निकलेगा. प्रदर्शन नहीं होगा. इसलिए नमाज पढ़कर घर जायें. लेकिन, व्‍हाट्सएप ग्रुप में मैसेज चला कि हमें प्रदर्शन करना है. नमाज के बाद बड़ी संख्‍या में लोग बिना अनुमति के ही फिरायालाल चौक की ओर बढ़ने लगे. पुलिस ने रोका तो भीड़ उग्र हो गई.

Read Also  मंत्री सत्यानन्द भोगता ने जरूरतमंद के बीच किया  साड़ी धोती का वितरण

उपद्रवियों पर कार्रवाई शुरू, संदिग्‍धों से हो रही है पूछताछ

पुलिस ने शनिवार को मजबूत कदम उठाया. डीआईजी अनीष गुप्‍ता, एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा, और सिटी एसपी आदि सुबह से ही सड़क पर उतरे. उपद्रवियों पर कार्रवाई शुरू कर दी. संदिग्‍धों से पूछताछ की. बड़ी संख्‍या में पुलिस बल को शहर में तैनात कर दिया और स्थिति नियंत्रण में आ गई.

हेमंत सोरेन ने बनाई जांच कमिटी

उपद्रव और हिंसक घटनाओं की जांच के लिए मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने दो सदस्‍यीय कमेटी बनाई है. आपदा प्रबंधन सचिव अमिताभ कौशल की अध्‍यक्षता वाली कमिटी में एडीजी संजय ऑपरेशन संजय आनंद लाटकर को शामिल किया गया है. कमिटी से एक सप्‍ताह में रिपोर्ट मांगी गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.