रूपा तिर्की मामले की सीबीआई जांच से क्‍यों भाग रहे मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन?

by

Ranchi: साहिबगंज के महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की के संदिग्‍ध मौत की जांच की मंजूरी झारखंड सरकार क्‍यों नहीं दे रही है. यह बड़ा सवाल है. मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने मामले की न्‍यायिक जांच कराने का आदेश दिया है. वहीं रूपा तिर्की के माता-पिता सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं. रूपा तिर्र्की मामले में इंसाफ के लिए न्‍यायिक जांच या सीबीआई जांच इस पर सोशल मीडिया पर बहस गर्म है. इस बीच मामले पर सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्‍ता प्रशांत उमरांव एक एक ट्वीट ने खलबली मचा दी है. एक घंटे के भीतर इस पोस्‍ट को 400 से अधिक यूजर ने रिट्वीट किया है और दर्जनों कमेंट आए हैं.

उच्‍चतम न्‍यायालय के वकील प्रशांत उमराव ने अपने ट्वीट में बताया है कि मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन रूपा तिर्की मामले की सीबीआई जांच क्‍यों नहीं कराना चाहते हैं. उन्‍होंने अपने पोस्‍ट में कहा है कि झारखंड की युवा होनहार आदिवासी समुदाय की दारोग़ा रूपा तिर्की की संदेहास्पद मृत्यु की जांच CBI से कराने में डर क्यों लगता है? शायद इसलिये कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को स्वयं पर लगे माडल रेपकांड मामले को मुंबई उच्च न्यायालय द्वारा CBI को सौंपे जाने की आशंका का भय सता रहा होगा!

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

हेमंत सोरेन और मॉडल रेपकांड मामला

मुंबई की आएशा नाम की एक मॉडल ने 2013 में झारखंड के CM हेमंत सोरेन पर रेप का आरोप लगाया था. हालांकि, बाद में उसने केस वापस भी ले लिया था. इस मामले से जुड़ी एक रिपोर्ट सामने आने के बाद राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने मामले को संज्ञान में लिया. एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने इस मामले में महाराष्ट्र पुलिस महानिदेशक को चिट्ठी लिखी. मॉडल के साथ रेप मामले में झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन का नाम सामने आया था. मीडिया रिपोर्ट में झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन और सुरेश नागरे को मॉडल के साथ रेप के मामले में आरोपी बनाया गया है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक साल 2013 में हेमंत सोरेन और सुरेश नागरे द्वारा न केवल मुंबई की मॉडल का रेप किया गया, बल्कि उसे और उसके परिवार को सार्वजनिक तौर पर घटना के बारे में बोलने के खिलाफ भी लगातार धमकी दी गई.

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

सात साल बाद हेमंत सोरेन रेपकांड का मामला दोबारा जिंदा होने पर झारखंड की राजनीति गर्म हो गई. तब भाजपा ने हेमंत सोरेन से इस्‍तीफा की मांग की. बीजेपी के सांसद निशिकांत दूबे ने मुंबई पुलिस और CBI से भी केस दर्ज कर जांच की मांग की. वहीं बाबूलाल मरांडी ने सीबीआाई जांच के लिए गृहमंत्री को चिट्ठी लिखा.

रूपा तिर्की के माता-पिता ने हेमंत सोरेन से मिलकर की सीबीआई जांच की मांग

रूपा तिर्की के माता-पिता और सामाजिक संगठनों के मामले की सीबीआई जांच की मांग को मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन खारिज किये जाने के बाद अब देश भर के बुद्धितजीवियों में असंतोष पैदा हो रहा है. बता दें कि 10 जून को रूपा तिर्की के माता पिता आदिवासी संगठनों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात की थी. उन्‍होंने एक स्‍वर में मुख्‍यमंत्री से रूपा तिर्की के संदिग्‍ध मौत मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की थी. सीएम से मुलाकात के बाद रूपा के माता-पिता ने बताया कि इस मामले पर सीबीआई जांच कराने की सहमति तो दूर उन्‍होंने रूपा तिर्की की मौत पर संवेदना भी नहीं जताया.  

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

रूपा तिर्की मौत मामले में हेमंत सोरेन के करीबियों के नाम

लोकल खबर को दिए एक इंटरव्‍यू में झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्‍ता राजीव कुमार ने बताया कि रूपा तिर्की मामले में मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनीतिधि पंकज मिश्रा और कई पुलिस अधिकारियों के नाम आ रहे हैं. हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पूरे संताल में दबदबा है. उसी के इशारे पर वहां का राजनीति और प्रशासन काम करता है. ऐसे में रूपा तिर्की मामले की निष्‍पक्ष जांच राज्‍य सरकार की कोई एजेंसी नहीं कर सकती है. इसलिए हाईकोर्ट में सीबीआाई जांच के लिए याचिका दायर की गई है. साथ ही मामले की न्‍यायिक जांच आदेश के खिलाफ एक हस्‍तक्षेप याचिका भी दायर की गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.