बिहार विधानसभा चुनाव: राजद की मांग- हर वोटर का इंश्योरेंस कवरेज होना चाहिए

बिहार विधानसभा चुनाव: राजद की मांग- हर वोटर का इंश्योरेंस कवरेज होना चाहिए

Patna: कोरोना महामारी के बीच बिहार में विधानसभा चुनाव 2020 होने वाले हैं. सूबे में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई हैं. प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (RJD) कोरोना संकट के मद्देनजर चुनाव आयोग से मांग की है कि वोटरों का जीवन बीमा कराया जाए. पार्टी की ओर से कहा गया कि चुनाव आयोग के कुछ दिशा-निर्देशों पर स्पष्टीकरण की जरूरत है.

गौरतलब है कि बिहार के भावी मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के मौसेरे भाई व आरजेडी नेता भवेश यादव ने पटना में न्यूज रिपोर्टरों से बातचीत में कहा, ‘हर वोटर का इंश्योरेंस कवरेज होना चाहिए क्योंकि वह चुनाव में सबसे प्रमुख हैं. अगर चुनाव आयोग दिशा-निर्देशों को स्पष्ट नहीं करता है तो 30 से 32 फीसदी वोटिंग कम होगी.’

Bhavesh Yadav

उनको बता दें कि चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार, वोटरों का मास्क पहनना अनिवार्य होगा. वोट देते समय उनको ग्लव्स भी पहनने होंगे. पोलिंग स्टेशन पर 1500 के बजाय 1000 निर्वाचक होंगे. वोटिंग के दौरान लाइन में लगे वोटरों के बीच तय दूरी होगी ये सब बिहार के जनता देख रही है ये लोग बीजेपी-जदयू वाले सात्‍ता में चूर है विकास तो किए हैं हार तो पक्का है.

इधर भारतीय निर्वाचन आयोग के उच्च पदस्थ सूत्रों ने सोमवार को बताया कि बिहार में विधानसभा चुनाव 2020 समय पर होंगे. कोविड-19 महामारी के मद्देनजर कुछ राजनीतिक दल चुनाव आयोग से विधानसभा चुनाव को टालने की मांग कर रहे हैं. बिहार  की 243 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को खत्म हो जाएगा.

ऐसे संकेत हैं कि अक्टूबर-नवंबर के बीच किसी भी समय चुनाव हो सकते हैं. निर्वाचन आयोग (ईसी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने रविवार को बताया, ‘‘बिहार का चुनाव निश्चित तौर पर समय पर होगा.’’ राज्य की प्रमुख विपक्षी  ने महामारी के समय चुनाव कराने के औचित्य पर सवाल उठाया है. राजग की घटक लोक जनशक्ति पार्टी ने महामारी के मद्देनजर चुनाव टालने का अनुरोध किया है.

कई दलों ने की चुनाव टालने की मांग

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टीऔर नेशनल पीपुल्स पार्टी कांग्रेस जाप जैसे कुछ अन्य दलों ने भी चुनाव टालने की मांग की है. महामारी के दौरान बिहार विधानसभा का चुनाव और कुछ अन्य उपचुनाव कराने को लेकर चुनाव आयोग द्वारा मांगे गए सुझाव पर राजनीतिक दलों ने हाल में अपना जवाब दिया था.चुनावों के लिए दिशा-निर्देश जारी

पिछले सप्ताह आयोग ने महामारी के दौरान चुनाव और उपचुनाव कराने के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश को सामने रखा था. चुनाव आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देश के मुताबिक मतदाताओं को मतदान के दौरान ग्लव्स दिए जाएंगे. पृथक-वास में रहने वाले कोविड-19 के मरीजों को मतदान के दिन अंतिम समय में मतदान करने की अनुमति दी जाएगी.

कोविड-19 निषिद्ध क्षेत्र में रहने वाले मतदाताओं के लिए अलग से दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे. मतदान केंद्र के प्रवेश द्वार पर थर्मल स्कैनर से जांच की जाएगी

चुनाव पर आयोग में अब तक चर्चा नहीं

गौर करने वाली बात है कि बिहार विधानसभा चुनाव पर अब तक चुनाव आयोग के अंदर आधिकारिक तौर पर चर्चा नहीं हुई है. मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा अमेरिका से लौटे हैं और स्वास्थ्य प्रोटोकॉल के तहत 30 मई तक संस्थागत क्वारंटाइन में हैं. हालांकि वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये वो चुनाव आयोग की तमाम फैसलों में अमेरिका से ही शामिल हो रहे थे और यहां से भी जरूरत पड़ने में शामिल होंगे. लेकिन बिहार विधानसभा चुनाव पर औपचारिक बैठक या चर्चा की संभावना चुनाव आय़ोग के अंदर अगले महीने ही होगी.

1 thought on “बिहार विधानसभा चुनाव: राजद की मांग- हर वोटर का इंश्योरेंस कवरेज होना चाहिए”

  1. Pingback: नीतीश कुमार को राजद ने क्‍यों कहा ‘बुढ़े हो गए हैं आप’ | Local Khabar

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to Top
रांची के TOP Selfie Pandal लव राशिफल: 3 अक्‍टूबर 2022 India की सबसे सस्‍ती EV Car लव राशिफल: 2 अक्‍टूबर 2022 नोट पर गांधीजी कब से?