केरल में ‘ऑपरेशन मदद’ से नौसेना से 3500 लोगों का रेस्‍क्‍यू किया

#Mumbai: केरल में भारी बरसात से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. बाढ़ आपदा के कारण कई लोगों की मौत हो गई है. केरल के अधिक से अधिक हिस्सों से बचाव अभियान शुरू किया गया है.

भारतीय नौसेना की ओर से ऑपरेशन मदद चलाया जा रहा है. सेना की ओर से बताया गया कि यह बचाव कार्य आगे भी चलाया जाएगा. एसएनसी बचाव दल को जेमिनी नौकाओं के साथ रवाना किया गया है.

केरल में नौसेना के 72 टीमों ने 3500 लोगों को बचाया

भारत नौसेना के पूर्वी और पश्चिमी नौसेना कमांड की ओर से जेमिनी नौकाओं, गोताखोरों और अन्य संसाधनों को बाढ़ प्रभावित इलाकों में भेजा गया है. अब तक 3500 से ज्यादा नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है. भारतीय नौसेना के जन संपर्क विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, 18 अगस्त को दोपहर 4:30 बजे तक ऑपरेशन मदद के जरिए 72 से ज्यादा डाइविंग टीमों को केरल के विभिन्न हिस्सों में तैनात किया गया है.

Read Also  36th national games 2022 उद्घाटन समारोह में पीएम के सामने बिना ब्‍लेजर मार्च पास्‍ट करेगी झारखंड टीम

आपदा के दसवें दिन भारतीय नौसेना के पूर्वी और पश्चिमी नौसेना कमांड की ओर से 42 जवानों की नई टीमों को जेमिनी नौकाओं, गोताखोरों और अन्य संसाधनों के साथ भेजा गया है.

केरल के इन स्‍थानों पर हो रहा है रेस्‍क्‍यू

यह बचाव दल एर्नाकुलम जिले में बचाव कार्य कर रही है. इनमें से एक टीम पिशाला द्वीप में है, एक टीम एडापली में बचाव कार्य कर रही है, जबकि पेरुंबवूर में तीन टीम, उत्तर परवुर में 16 टीम, अलुवा में 14 टीम, मुवात्तुपुझा में चार टीम और कदंगल्लूर में दो टीम राहत कार्य में लगी है. इसके अलावा त्रिशूर जिले के चालककुडी इलाके में भी दस टीमों को रवाना किया गया है. पठानमथिट्टा जिले के चेंगन्नूर में भी सेना की दस टीमें तैनात की गई हैं, और एक टीम अयूर और पुलाद में तैनात है. वायनाड जिले में हालात में सुधार होने के बाद वहां तैनात बचाव दल को अन्य बाढ़ ग्रस्त इलाकों की ओर रवाना किया गया है.

Read Also  रांची में हनुमान मंदिर घुसकर मूर्ति तोड़ी, पुलिस ने बिना जांचे आरोपी रमीज को बताया विक्षिप्‍त

केरल में आईएनएस गरुड़ भी कर रहा है रेस्‍क्‍यू में मदद

आईएनएस से साभार

बचाव दल की ओर से 3375 लोगों को बचाने में सफल हुआ है. भारतीय नौसेना की ओर से बताया गया है कि आईएनएस गरुड़ की मदद से भी बाढ़ में फंसे नागरिकों को बाहर निकाला जा रहा है. नौकाओं से राहत सामग्री भिजवाई जा रही है.

ये तीन जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित

केरल में बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित तीन जिलों त्रिशूर, एर्नाकुलम और पठानमथिट्टा में वायु सेना व नौसेना के हेलीकॉप्टरों की मदद से बचाव कार्य किया जा रहा है. एएलएच, सागर किंग, चेतक और भारतीय वायुसेना (आईएएफ) के एमआई 17 सहित कई विमान अब तक 154 से अधिक लोगों को बचा चुके हैं.

Read Also  रांची में हनुमान मंदिर घुसकर मूर्ति तोड़ी, पुलिस ने बिना जांचे आरोपी रमीज को बताया विक्षिप्‍त

केरल में रेस्‍क्‍यू में चलाये जा रहे हैं ये कारगर अभियान

बोतलबंद पानी के साथ खाद्य पैकेट बाढ़ में घिरे मकानों व चर्चों की छतों पर गिराए जा रहे हैं. नेवल बेस के अंदर टी 2 हैंगर में बनाए गए अस्थाई मेक शिफ्ट राहत शिविर में लगभग बचाए गए 350 लोगों को समायोजित किया गया है. नेवल बेस के भीतर स्थित नेवल किंडरगार्टन (एनकेजी) स्कूल को भी राहत शिविर में परिवर्तित कर दिया गया है और लगभग 250 लोगों को वहां समायोजित किया गया है.

केरल में ‘ऑपरेशन मदद’ से नौसेना से 3500 लोगों का रेस्‍क्‍यू किया
बीबीसी से साभार

कोचीन विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीयूएसएटी) के परिसर में आईएनएस वेंडरुट्टी की ओर से स्थापित किए गए सामुदायिक रसोई घर में 7000 लोगों की खानपान व्यवस्था की गई है. यहां पर 17 कुक, 4 अधिकारी और 13 कर्मचारी ज़रूरतमंदों के लिए भोजन और चाय उपलब्ध कराने के लिए लगातार काम कर रहे हैं. इसके साथ ही यूसी कॉलेज में 2000 व्यक्तियों के लिए भोजन व्यवस्था की गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.