Take a fresh look at your lifestyle.

रिकॉर्ड: रेलवे ने बनाया चार घंटे में पुल, ट्रेनें गुजरी सुरक्षित

0

Ranchi: दक्षिण-पूर्व रेलवे ने रेलवे ट्रैक से नीचे सिर्फ चार घंटे में पुल बना डाला. यह अपने आप में रिकॉर्ड है. कम समय में पुल बनाने का रिकॉर्ड बानो स्‍टेशन के पास किया गया है. पुल निर्माण अवधि के दौरान रांची रेल मंडल ने पुल (एनएचएस) हटिया-राउरकेला रेलखंड पर चार घंटे का पावर ब्लॉक लिया था. इस दौरान यहां से सभी गुजरनेवाली रेलगाड़ियों को रि-शिड्यूल कर दिया. मंडल के एडीआरएम अजीत सिंह यादव ने बताया कि  दिन के 10.35 से लेकर दोपहर 2.35 बजे तक की अवधि में यह पुल बनकर तैयार हो गया.

पुल बनने के तुरंत बाद गुजरी ट्रेनें

पुल बनने के बाद हटिया-पुरी तपस्विनी ट्रेन सबसे पहले इस पुल से गुजरी. इससे पहले रेल अधिकारियों की मौजूदगी में पुल के पूरी तरह दुरुस्त होने का जायजा लिया गया. पुल बनने के दौरान संबलपुर जम्मूतवी एक्सप्रेस तीन घंटे लेट से हटिया आयी. जबकि हटिया-टाटा पैसेंजर 1.20 घंटे और बनारस एक्सप्रेस 40 मिनट लेट हुई.

तीन बड़े क्रेन और 200 मजदूरों ने दिया काम को अंजाम

बानो स्टेशन में मानव युक्त क्रॉसिंग को बंद करने के लिए इस पुल को बनाया गया है. एडीआरएम ने बताया कि पुल निर्माण में 14 सौ घनमीटर मिट्टी हटाना चुनौती थी. इसे महज डेढ़ घंटे में हटाया. इसके लिए 200 टन वाले तीन क्रेन और चार पोकलेन मशीनें लगी थीं. 200 मजदूरों ने इस निर्माण को अंजाम तक पहुंचाया.

हटिया-कर्रा और गोविंदपुर का दोहरीकरण मार्च तक

हटिया बंडामुंडा रेलखंड पर स्थित दो बड़े रेलखंडों का निर्माण मार्च 2019 तक पूरा हो जाएगा. वहीं 2021 तक दोहरीकरण पूरा होगा. सीपीआरओ नीरज कुमार ने बताया कि इसमें 22 सब-वे, एक अंडरब्रिज, एक ओवरब्रिज से होकर दोहरीकरण होगा. दोहरीकरण के लिए 300 एकड़ भूमि अधिग्रहित होगी.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More