Ratan Tata ने 18 साल के युवा से मिलाया हाथ, कंपनी में खरीदी 50 फीसदी हिस्सेदारी

by

Mumbai: मेहनत और लगन सच्ची हो तो उसका फल जरूर मिलता है. ऐसा ही कुछ हुआ 18 साल के युवा अर्जुन देशपांडे के साथ. उसकी मेहनत रंग लाई और टाटा समूह के दिग्गज कारोबारी रतन टाटा (Ratan Tata) ने उससे हाथ मिलाया है.

रतन टाटा ने मुंबई के युवा अर्जुन देशपांडे की दवा बिक्री करने वाली कंपनी ‘जेनरिक आधार’ में 50 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है. यह कंपनी खुदरा दुकानदारों को बाजार से सस्ती दर पर दवाएं बेचती है. टाटा ने यह हिस्सेदारी कितने रकम में ली है इसका खुलासा नहीं किया गया है. देशपांडे ने दो साल पहले अपने मां-बाप से पैसा लेकर कारोबार शुरू किया था.

देशपांडे ने इस सौदे की पुष्टि की है, लेकिन उन्होंने यह बताने से इंकार किया कि यह सौदा (Deal) कितनी रकम में हुआ है.

उन्होंने बताया कि रतन टाटा पिछले 3-4 महीने से उनके प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार कर रहे थे. टाटा उनके पार्टनर बनना चाहते थे और कारोबार को चलाने के लिए उनके मेंटोर भी. अर्जुन देशपांडे ने बिजनेस टुडे को बताया, ‘सर रतन टाटा ने दो दिन पहले ही जेनरिक आधार में 50 फीसदी हिस्सेदारी ली है, इस बारे में औपचारिक घोषणा जल्दी ही की जाएगी.’

सूत्रों के अनुसार, रतन टाटा ने यह निवेश व्यक्तिगत स्तर पर किया है और इसका टाटा समूह से लेना-देना नहीं है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.