दो बहनों से दुष्कर्म बच्चे के जन्म के बाद सामने आया मामला एक धराया

by

#Ranchi: रातू इलाके की दो नाबालिग सगी बहनों से दुष्कर्म का मामला सामने आया है. यह मामला तब सामने आया जब दोनों में से एक नाबालिग ने शुक्रवार की देर रात एक बच्चे को जन्म दिया. इसकी जानकारी मीडिया और पुलिस को हुई इसके बाद पीड़िता ने अपने साथ हुई पूरी वारदात की जानकारी दी.

जिस पीड़िता ने बच्चे को जन्म दिया है उसकी उम्र 16 वर्ष है। छोटी बहन 15 वर्ष की है. 16 वर्षीय पीड़िता ने बताया कि करीब 1 वर्ष पहले रातू के बुलेज अंसारी ने स्कूल से घर लौटने के क्रम में पकड़ लिया उसे स्कूल के पीछे एकांत जगह ले जाकर दुष्कर्म किया. इसके बाद बुलेज बोला कि तुमसे शादी कर लूंगा. इसी तरह छोटी बहन से फुटकल टोली निवासी मोजीम अंसारी ने दुष्कर्म किया बुलेज और मोजीम दोनों आपस में परिचित है. दोनों ने मिलकर हम दोनों बहनों की जिंदगी बर्बाद कर दी.

Read Also  झारखंड में ब्लैक फंगस महामारी घोषित, कैबिनेट की मुहर

घटना सामने आने के बाद कांके पुलिस कांके के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे जहां पीड़िता ने बच्ची को जन्म दिया था. पुलिस ने बयान लेकर रातू थाना को भेज दिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपित बुलेज अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है.

दूसरी बहन का नहीं लिया गया बयान

छोटी बहन का पुलिस ने बयान नहीं लिया है वह भी कांके के नारी निकेतन में भर्ती है. वह गर्भवती है. पीड़िता के पिता के मुताबिक का के पुलिस को उन्होंने छोटी बेटी के मामले में केस कर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया है.

पुलिस व पंचायत ने की लीपापोती

पीड़िता के अनुसार घटना के बाद पूरे परिवार के साथ इसी वर्ष अप्रैल माह में रातू थाना पहुंची थी. इस पर रातू पुलिस ने एक पंचायत में मामला सुलझाने के लिए भेज दिया था. पीड़िता व उसके पिता फुटकल टोली के सदर के पास पहुंचे थे. सदर ने आरोपित का सहयोग करते हुए लीपापोती कर दी इससे वह भटकती रही. पिता एक गैरेज में काम करते हैं मां घरों में दाई का काम करती है. गरीबी की वजह से थाना से लेकर पंचायत तक के लोगों ने अनदेखी की.

Read Also  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मानहानि मामले में ट्विटर फेसबुक को नोटिस

घर में घुसकर की मारपीट

मामला पुलिस के पास पहुंचने के बाद पीड़िता के परिवार वालों के साथ मारपीट करने आरोपित पक्ष के लोग पहुंच गए. इसके बाद घर में अकेली पाकर पीड़िता की बड़ी बहन से मारपीट की गई. धमकी भी दी गई. सूचना मिलने पर रातू पुलिस पहुंची इससे पहले सभी भाग चुके थे.

निर्मल हृदय पहुंची थी दोनों पीड़िताएं

दोनों पीड़िता निर्मल ह्रदय पहुंची थी. दोनों को आरोपित पक्ष के लोगों ने सदर अस्पताल पहुंचकर गर्भपात कराने के लिए भेजा था. अस्पताल की नर्सों ने गर्भपात से मना करते हुए निर्मल हृदय भेज दिया. निर्मल हृदय में बच्चों की बिक्री प्रकरण सामने आने के बाद उसे नहीं रखा गया. इसके बाद वह कांके स्थित नारी निकेतन पहुंच गई. वहीं से बच्चे का जन्म हुआ. बताया जा रहा है कि बच्चे के जन्म के बाद दो युवक अस्पताल में उसे खरीदने पहुंचे थे लेकिन अस्पताल कर्मियों ने उन्हें भगा दिया.

Read Also  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की मानहानि मामले में ट्विटर फेसबुक को नोटिस

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.