रांची का हिंदपीढ़ी अगले 72 घंटे के लिए सील, अब तक 70 लोगों पर FIR

by

Ranchi: हिंदपीढी क्षेत्र से कोरोनावायरस के नए मामले सामने आने के बाद उपायुक्त राय महिमापत रे ने वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी रांची सदर लोकेश मिश्रा और सिविल सर्जन रांची बीवी प्रसाद के साथ संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

खास बातें:

  • इलाके हिंदपीढ़ी क्षेत्र में कोरोना पॉजिटिव के पांच नए मामले
  • उपायुक्त रांची ने प्रेस कांफ्रेंस में दी जानकारी
  • सभी संक्रमित लोगों को रिम्स आइसोलेशन सेंटर किया गया शिफ्ट
  • ड्रोन कैमरे से इलाके की निगरानी
  • टेस्टिंग और सैंपलिंग के कार्य में बाधा उत्पन्न करने पर होगी एफआईआर

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उपायुक्त ने कोरोना पॉजिटिव के आए मामलों के बारे में विस्तार से जानकारी दी.

इसे भी पढ़ें: झारखंड में कोरोना से पहली मौत, बोकारो के साड़म का है मरीज

रांची में 7 कोरोना पॉजिटिव मामले

प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त,रांची ने बताया कि रांची में 7 लोग को कोरोना पॉजिटिव हैं, इनमें 6 लोग एक ही परिवार के हैं. 5 नए कोरोना पॉजिटिव के मामले सामने आए हैं. इन सभी व्यक्तियों को रिम्स के आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है. जो नए पांच मामले कोरोना पॉजिटिव के आए हैं, उनकी कांटेक्ट ट्रेसिंग की जा चुकी है और जो भी उनके संपर्क में आए हैं उनकी सैंपलिंग का कार्य किया जा रहा है.

Read Also  रांची में 18 प्लस वैक्सीनेशन के लिए नहीं करना होगा इंतजार, जिला प्रशासन कर रही है खास तैयारी

डीसी की एक बार फिर से अपील, लोग खुद आए जांच कराने

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उपायुक्त रांची ने लोगों से एक बार फिर से अपील की है कि अगर उनमें कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं तो वह खुद जांच के लिए जिला प्रशासन से संपर्क करें. उन्होंने कहा कि जितनी सैंपलिंग होगी संक्रमण से उतना ही बचाव होगा.

कहा कि कोरोना के लक्षण पाए जाने पर 1950 में सूचित करें ताकि जांच कराई जा सके. उन्होंने लोगों से कहा कि घर में रहें, लॉक डाउन का पालन करें और सुरक्षित रहें. साथ ही बताया कि लोगों तक विभिन्न हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं.

मास्क का इस्तेमाल करें- डीसी

रांची डीसी ने लोगों से अपील की है कि वो मास्क का इस्तेमाल करें. उन्होंने कहा कि मास्क के इस्तेमाल से कोरोनावायरस के संक्रमण के खतरे को कम किया जा सकता है, इसलिए ज्यादा से ज्यादा लोग मास्क का इस्तेमाल करें.

Read Also  घर से बाहर बिना ईपास निकले तो देना होगा जुर्माना

इसे भी पढ़ें: झारखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या 4 से 13 हुए, आंकड़े छिपाने के लिए सरकार सक्रिय

हिंदपीढी क्षेत्र 72 घंटे के लिए सील

कोरोना पॉजिटिव के नए मामले सामने आने के बाद पूरे हिंदपीढी क्षेत्र को 72 घंटे के लिए सील कर दिया गया है. पूरे क्षेत्र में पेट्रोलिंग की व्यवस्था की गई है ताकि लोग अपने घरों से बाहर ना निकले.

उपायुक्त रांची ने बताया कि आवश्यक वस्तुओं के लिए वॉलिंटियर्स की प्रतिनियुक्ति की गई है, हिंदपीढी क्षेत्र में इन वॉलिंटियर्स के माध्यम से आवश्यक वस्तुएं लोगों के घर तक पहुंचाई जा रही हैं.

ड्रोन से पूरे इलाके की निगरानी

प्रेस कॉन्फ्रेंस में वरीय पुलिस अधीक्षक अनीश गुप्ता ने बताया की हिंदपीढी इलाके में आम लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह से पाबंदी है. मेडिकल इमरजेंसी, आवश्यक वस्तु की जरूरत होने पर जिला प्रशासन या वॉलिंटियर्स से संपर्क किया जा सकता है.

उन्होंने बताया कि पूरे इलाके की निगरानी 4 ड्रोन कैमरे से की जा रही है.

अनीश गुप्ता ने कहा कि अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकलने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि लॉक डॉन के उल्लंघन करने के मामले में अब तक 70 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है.

Read Also  झारखंड लॉकडाउन ई-पास बनाने में प्राइवेसी सुरक्षित नहीं, तकनीकी कमियों का कोई भी कर सकता है गलत इस्‍तेमाल

टेस्टिंग और सैम्पलिंग के कार्य में बाधा उत्पन्न करनेवालों के खिलाफ होगी एफआईआर

आज सुबह 10:00 बजे से अगले 72 घंटे के लिए हिंदपीढ़ी का इलाका सील कर दिया गया है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस में अनुमंडल पदाधिकारी, सदर रांची लोकेश मिश्रा ने बताया कि कोरोना के अन्य पांच मामले एक ही क्षेत्र से आए हैं. वार्ड नंबर 21, 22 और 23 में निषेधाज्ञा पहले से ही लागू है, और पूरे इलाके को 72 घंटे के लिए फिर से सील कर दिया गया है.

आज सुबह 10:00 बजे से ही अगले 72 घंटे के लिए इलाके को सील कर दिया गया है. किसी भी व्यक्ति के बाहर निकलने पर पूर्णता रोक है। आवश्यकता पड़ने पर जिला प्रशासन से 1950 पर संपर्क किया जा सकता है. यातायात भी पूरी तरह से बंद रहेगा, बिना कारण घर से बाहर निकलने पर कार्रवाई की जाएगी.

जिन्हें भी होम क्वॉरेंटाइन किया गया है वह मेडिकल टीम के द्वारा बताए जाने के बाद ही घर से बाहर टेस्टिंग और सैंपलिंग के लिए निकल सकते हैं. टेस्टिंग और सैंपलिंग में बाधा उत्पन्न करने वाले लोगों के खिलाफ एफआईआर की जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.