राहुल गांधी की अपील- राजनीतिक काम छोड़ लोगों की मदद करें कांग्रेस कार्यकर्ता

by

New Delhi: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे सारे राजनीतिक काम छोड़कर जरूरतमंदों की ज्यादा से ज्यादा मदद करें. उन्होंने कहा कि देश का ‘सिस्टम’ फेल है इसलिए जनहित की बात करना ज़रूरी है. राहुल आगे कहते हैं इस संकट में देश को ज़िम्मेदार नागरिकों की ज़रूरत है. अपने कांग्रेस साथियों से मेरा अनुरोध है कि सारे राजनैतिक काम छोड़कर सिर्फ जन सहायता करें, हर तरह से देशवासियों का दुख दूर करें. कांग्रेस परिवार का यही धर्म है.

मालूम हो कि देश कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए राहुल गांधी ने 18 अप्रैल को पश्चिम बंगाल में अपनी सभी सार्वजनिक रैलियों को रद्द कर दिया, जिस वक्त उन्होंने रैलियां रद्द की उस वक्त राज्य में तीन चरणों का मतदान लंबित था. उन्होंने एक ट्वीट के माध्यम से कहा था कि कोविड की स्थिति को देखते हुए, मैं पश्चिम बंगाल में अपनी सभी सार्वजनिक रैलियों को निलंबित कर रहा हूँ. मैं सभी राजनीतिक नेताओं को मौजूदा परिस्थितियों में बड़ी सार्वजनिक रैलियों के आयोजन के परिणामों के बारे में गहराई से सोचने की सलाह दूंगा.

पहले भी कर चुके हैं मोदी सरकार पर हमला

राहुल इससे पहले भी कई बार मोदी सरकार पर देश की चरमराती स्वास्थ्य व्यवस्था को देखते हुए सवाल उठा चुके हैं. हाल ही में उन्होंने कई शहरों में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की कमी से मरीजों की हो रही मौत की खबरों के बीच मोदी सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने आरोप लगाया कि इस स्थिति के लिए सरकार जिम्मेदार है. उन्होंने ट्वीट किया, ”कोरोना वायरस के कारण ऑक्सीजन का स्तर गिर सकता है, लेकिन ऑक्सीजन की कमी और आईसीयू बेड की कमी के कारण बहुत सारी मौतें हो रही हैं.

कोरोना के रिकॉर्ड 3,46,786 नए मामले सामने

वहीं दूसरी ओर देश में कोरोना के मामलों की बात करें तो शनिवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए आंकड़ो के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 3,46,786 नए मामले सामने आए जबकि 2,624 मरीजों की मौत हो गई. हालांकि इस दौरान 2,19,838 मरीज ठीक भी हुए. अब तक देश में कोरोना के कुल 1,66,10,481 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 1,38,67,997 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.