Take a fresh look at your lifestyle.

इस हॉट महिला के ईर्द-गिर्द घूम रही है राफेल डील

0 0

New Delhi: 2016 में 36 राफेल विमानों की खरीद को लेकर खींचतान आज भी जारी है. सरकार और विपक्ष दोनों एक दूसरे पर वॉर कर रहे हैं. हालांकि, इस बीच रिलायंस डिफेंस चुप है. वहीं, फ्रांसीसी अखबार मीडियापार्ट में छपी एक खबर के बाद भारतीय राजनीतिक भूचाल आ गया है. फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने मीडियापार्ट को दिए इंटरव्यू में कहा कि राफेल सौदे में रिलायंस का नाम खुद भारत सरकार ने सुझाया था. फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद सरकार कांग्रेस के निशाने पर आ गई और उन्होंने सरकार पर हमले और तेज कर दिए.

एक खूबसूरत चेहरा के पीछे कई सवाल 

खास बात यह है कि इस डील में नए-नए नाम शामिल हो रहे हैं. पहले सिर्फ अनिल अंबानी और सराकर तक यह सीमित थी. लेकिन, उसके बाद फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति का नाम शामिल हुआ. वहीं, अब फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की प्रेमिका का नाम भी इस डील से जुड़ गया है. यही नहीं पूरी राफेल डील प्रेमिका के नाम के ईर्द-गिर्द ही घूम रही है. लेकिन, सवाल यह है कि यह लड़की है कौन? इसका डील से क्या कनेक्शन. आइये समझते हैं.

रिलायंस डिफेंस को किसने चुना? 

दरअसल, पूर्व राष्ट्रपति ओलांद ने अपने बयान में दावा किया कि राफेल विमान बनाने के 58 हजार करोड रुपए के समझौते के लिए अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप की कंपनी रिलायंस डिफेंस का नाम भारत सरकार ने ही सुझाया था. फ्रांस के पास उस वक्त कोई विकल्प नहीं था. हालांकि, इससे पहले सरकार बिल्कुल उलट बयान देती रही है.

ओलांद के बयान पर विवाद 

राफेल डील विवाद पर फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद खूब हंगामा हो रहा है. हालांकि, कुछ दिन पहले ही कांग्रेस ने ओलांद को भी निशाने पर लिया था. कांग्रेस का आरोप है कि राफेल डील साइन होने से पहले ओलांद की प्रेमिका जूली गायेट को फायदा पहुंचाया गया. इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फ्रांस्वा ओलांद की भारत यात्रा (जब राफेल डील पर समझौता हुआ) से दो दिन पहले अनिल अंबानी की रिलायंस एंटरटेनमेंट ने ओलांद की प्रेमिका जूली गायेट के साथ एक फिल्म प्रोड्यूस करने के लिए डील साइन की थी.

ओलांद की प्रेमिका के साथ फिल्म की साइन 

फिल्म के पैसों के प्रबंध के लिए जूली गायेट, फ्रांस्वा ओलांद और फिल्म ‘माई फैमिली’ के निर्माता सभी ने यह घोषणा की कि फिल्म में रिलायंस की भागीदारी का राफेल डील से कोई लेना-देना नहीं है. लेकिन, फिल्म में पैसा उसी वक्त लगाया गया. अब सवाल उठता है कि 25 जनवरी 2016 को जब राफेल डील के लिए फ्रांस्वा ओलांद भारत पहुंचे तभी अनिल अंबानी ने फिल्म फाइनेंसिंग की घोषणा क्यों की? वहीं, रिलायंस एंटरटेनमेंट ने उस फ्रांसीसी फिल्म में पैसा क्यों लगाया, जिसमें न तो भारत का कोई संदर्भ था और ना ही भारत में इस रिलीज किया जाना था.

कौन हैं जूली गायेट? 

फ्रांस की खूबसूरत अभिनेत्रियों में जूली गायेट का नाम शुमार है. वह ‘राइजिंग फीमेल ऑफ फ्रांसीसी प्रोड्यूसर’ की सूची में भी शामिल हैं. हालांकि, जूली को ज्यादा लोगों ने तब पहचाना जब उनका नाम पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद से जुड़ा. वह ओलांद की प्रेमिका के रूप में काफी फेमस हुईं. हालांकि, इससे पहले वह एक कामयाब एक्ट्रेस और प्रोड्यूसर भी हैं. जूली ने अपने करियर की शुरुआत को-प्रोड्यूसर के तौर पर की थी. जूली की दो फिल्में ऑस्कर के लिए नोमिनेट भी हो चुकी हैं.

जूली और रिलायंस एंटरटेनमेंट 

45 वर्षीय जूली गायेट की सफल फिल्मों में ‘क्वाई डी ऑर्से’ रही. यह फिल्म फ्रांसीसी विदेश मंत्रालय पर केंद्रित थी. इसके अलावा ‘शेल वी चुंबन’ जैसी फिल्में भी उनकी लिस्ट में शामिल हैं. साथ ही, जूली की ‘माई बेस्ट फ्रेंड फिल्म भी काफी चर्चित है. यही वह फिल्म है, जिसमें रिलायंस एंटरटेनमेंट ने राफेल डील से पहले पैसा लगाने का ऐलान किया था.

रिलायंस एंटरटेनमेंट था को-प्रोड्यूसर 

मीडियापार्ट की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गायेट तीन दिन के दौरे पर नई दिल्ली आई थीं. यहीं उन्होंने फिल्म की फंडिंग से जुड़ी डील साथ की. रिलायंस एंटरटेनमेंट ने 1.6 मिलियन यूरो की फंडिंग उस वक्त की थी. हालांकि, फिल्म में कुल फंडिंग 10 मिलियन यूरो की होनी थी. गायेट ने मीडियापार्ट को बताया यह निवेश माईफैमिली पहल के तहत किया गया था.

ओलांद ने दी सफाई 

जूली गायेट का नाम आने पर फ्रांस्वा ओलांद ने इस पर भी सफाई दी. उन्होंने कहा कि आपका पार्टनर अपने प्रोफेशन में क्या करता है, यह जरूरी नहीं आपको सब पता हो. पारामोर फिल्म से उनका कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा मैं कल्पना भी नहीं कर सकता है कि रिलायंस एंटरटेनमेंट का जूली की फिल्म से कोई कनेक्शन था और उनका राफेल डील से.

2012 में मिले थे ओलांद-गायेट 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, फ्रांस्वा ओलांद और जूली गायेट के बीच 2012 में अफेयर शुरू हुआ. हालांकि, उन्होंने पब्लिकली उसे 2014 में स्वीकारा. एक फोटोग्राफर ने दोनों की तस्वीर चुपके से खींच ली थी. उस दौरान ओलांद और गायेट एक ट्रिप पर थे. जहां, सिक्योरिटी के पुख्ता इंतजाम थे. लेकिन, फोटोग्राफर तस्वीर खींचने में कामयाब रहा. हालांकि, उनकी यह चर्चा तब खुलकर सामने आई जब ओलांद का अपनी पत्नी वैलरी ट्रियरविलर से तलाक हो गया था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.