राफेल डील पर उठ रहे सवाल और 2019 चुनाव

by

राफेल डील मामले में अब राजनीति अपने चरम पर है, आये दिन विपक्ष पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी इस मामले को उछाल इसे लगातार राजनैतिक बवाल बनाने में लगे रहते है.

तो वहीं दूसरी तरफ इस मामले में सत्‍ता पक्ष भी पीछे नहीं है. जैसे-जैसे 2019 चुनाव का सियासी समय करीब आ रहा है, विपक्ष हमलावर रूख अपनाते हुए लगातार राजनीतिक दाव खेल रहा है.

राफेल डील यानी कांग्रेस बनाम बीजेपी

ddee3cd281f495a23e269c74959c7cd6

चुनाव 2019 को लेकर कांग्रेस बीजेपी सरकार को चारों ओर से घेरने के प्रयास में जुटी हुई है, यही वजह है कि कांग्रेस राफेल डील मामले में बीजेपी सरकार को देशभर में घेरने के प्रयास में जुटी हुई है. राहुल के संसद में राफेल डील पर सवाल उठाने के बाद से ही ये मुद्दा राजनीति में दिनों-दिनों एक नए बयान के तौर पर सामने आ रहा है. इस रविवार कांग्रेस सूबे के कुल 32 शहरों में एक समय पर एक साथ मीडिया कर्मियों से मुखातिब होकर राफेल रण का ऐलान करेगी.

राफेल डील जितने सवाल उतने बवाल

1ae80657127baff9ff24083f4e1d349c.jpg

राफेल डील मामले पर राहुल गांधी ने लोकसभा में केन्द्र सरकार पर जमकर कर हमला किया. उसके बाद उन्होंने इस मामले में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से भी कई सवाल किये. हालांकि रक्षामंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष के सभी सवालों के जवाब पूरे स्पष्टीकरण के साथ ही दिया, लेकिन फिर भी यह मुद्दा अब संसद से सड़कों पर उतर आया है. इस मुद्दे के संसद से सड़क तक आने के एक मात्र कारण है इलेक्शन 2019 में अपनी पकड़ बनाना.

राफेल डील : सड़क से संसद तक

बीते शनिवार को युवा काग्रेंस के जिलाध्यक्ष दर्शन कठामत ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ राफेल घोटाले मामले में प्रदर्शन किया. उन्होंने विरोध में पोस्टर के साथ प्रदर्शन कर भाजपा सरकार की नाकामियों के नारे भी लगाये. उन्होंने इस मौके पर लोगों को भाजपा और एनडीएम सरकार के दौरान हुए राफेल डील की जानकारी देकर वर्तमान सरकार से कई सवाल किये.

85533104e89ad1df70d24a57482b0540.jpg

इतना ही नहीं इस मुद्दे पर राहुल गांधी संसद में हमला करने के बाद सोशल मीडिया पर लगातार सरकार को घेरने में लगे हुए है. उन्होंने कई बार ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी और केन्द्र सरकार दोनों पर हमला किया है. अब इस मुद्दे पर कांग्रेस का रूख बेहद आक्रमक हो गया है. इनका कहना है कि वह इस मुद्दे पर जल्द ही कई जिलों में प्रेस कॉंन्फ्रेंस करेंगे और लोगों को इसकी जानकारी भी देंगे. इस मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने खुद एक टीन का गठन किया है, जोकि अलग अलग जिलों में जाकर प्रेस कॉंफ्रेंस करेंगी.

f67e5b185a88a1af0d27d14ecbf819d6 (1).jpg

बतां दे रविवार को इसी मसले पर कांग्रेस की एक बैठक हुई, जिसके साथ कांग्रेस ने राफेल डील पर जनआंदोलन की शुरूआत की. इस बैठक के दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस के साथ-साथ धरना प्रदर्शन की बात भी कही गई. इस बैठक के बाद कांग्रेस पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि “मोदी सरकार राफेल डील पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है. राफेल डील में भ्रष्टाचार हुआ है और चौकीदार खुद उसमें भागीदार है”.

बतां दे कि राफेल डील मामले में सिर्फ कांग्रेस सरकार ही नहीं बल्कि बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने भी सवाल खड़े किए है, जिसमें पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी का नाम भी शुमार है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.