रांची का टाना भगत स्‍टेडियम बना प्रवासी मजदूरों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर

by

Ranchi: प्रवासी मजदूरों के लिए खेलगांव स्थित टाना भगत स्टेडियम को क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया है. खेल गांव में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रवासी मजदूरों के खानपान एवं रहने आदि से संबंधित व्यवस्था के साथ-साथ रैपिड एंटीजन टेस्ट की भी व्यवस्था की गई है. इसके वरीय प्रभार में सहायक जिला खनन पदाधिकारी रांची को प्रतिनियुक्त किया गया है.

रांची के उपायुक्त छवि रंजन द्वारा क्वॉरेंटाइन सेंटर में बेड के रखरखाव, साफ-सफाई सहित मूलभूत सुविधाओं की जांच की गई. साथ ही क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों से उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिये.

उपायुक्त द्वारा क्वॉरेंटाइन सेंटर में उपलब्ध संसाधनों के अलावा प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों एवं कर्मियों के रोस्टर ड्यूटी के संबंध में भी जानकारी ली गयी.

Read Also  आदिवासियों में होने वाले सिकल सेल आनुवांशिक बीमारी के उन्‍मूलन के लिए मुहिम शुरू

उपायुक्त छवि रंजन ने क्वॉरेंटाइन सेंटर में स्वास्थ्य सुविधा के साथ भोजन, जलपान, पेयजल एवं बिजली की व्यवस्था भी 24×7 दुरूस्त रखने के निर्देश दिए गए ताकि प्रवासी मज़दूरों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो.

उपायुक्त द्वारा क्वॉरेंटाइन सेंटर में रहने वाले लोगों को कोरोना से संबंधित समुचित जानकारी देकर जागरूक करने का निदेश दिया. उन्होंने कहा कि लोगों को मास्क पहनने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करने के लिए जागरूक करें.

इस दौरान उप विकास आयुक्त रांची विशाल सागर, अनुमंडल पदाधिकारी रांची सदर उत्कर्ष गुप्ता एवं प्रतिनियुक्त पदाधिकारी उपस्थित थे.

तीन शिफ्ट में तैनात रहेंगे दंडाधिकारी और सहयोगी कर्मी

खेल गांव में बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में तीन शिफ्ट में दंडाधिकारियों और सहयोगी कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है. आर पी साहू, कनीय अभियंता भवन निर्माण प्रमंडल संख्या 1, धर्मेंद्र कुमार, कनीय अभियंता भवन निर्माण प्रमंडल संख्या 2 और अनिल, कनीय अभियंता भवन निर्माण प्रमंडल संख्या 2 की प्रतिनियुक्ति की गई है.

Read Also  Father's Day 2021: एक पिता का संघर्ष जिन्होंने दिव्यांग बेटे के लिए आविष्कार तक कर दिया

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.