Take a fresh look at your lifestyle.

प्रियंका गांधी बोलीं- BJP चाहे तो बसों पर अपने झंडे लगा ले, लेकिन योगी सरकार बसों की अनुमति दे

0 13

New Delhi: प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के लिए बसें चलाने को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka gandhi) ने बुधवार को बीजेपी (BJP) और यूपी की योगी सरकार (Yogi Adityanath) से आग्रह किया है. राहुल गांधी की बड़ी बहन ने कहा कि BJP चाहे तो बसों पर अपने झंडे लगा ले, लेकिन योगी सरकार प्रवासी मजदूरों के लिए बसों की अनुमति दे दे.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि ये समय लोगों की मदद करने का है. ये समय राजनीति का नहीं है. मजदूर भारत की रीढ़ की हड्डी है. देश उनके खून-पसीने से चलता है.

‘आप इसका क्रेडिट ले लें लेकिन बसें चलने दें’

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘हमारी बसें 4 बजे तक खड़ी हैं, अगर आपको इस्‍तेमाल करनी हैं तो अनुमति दे दीजिये. अगर नहीं करनी हैं तो हमारी बसें वापस चली जाएंगी. अगर आप चाहते हैं कि उनमें बीजेपी के झंडे और स्‍टीकर लगाकर उन्‍हें चलाएं तो ऐसा ही करिये. अगर आप ये कहना चाहते हैं कि ये बसें आप चला रहे हैं, तो यही कीजिये. लेकिन बसों को चलने दीजिये.’

‘बसों के कुछ नंबर गलत हैं तो हम नई लिस्‍ट दे देंगे’

प्रियंका गांधी ने कहा कि हमने 67 लाख लोगों की मदद की. सबको मजदूरों के लिए जिम्‍मेदारी समझनी पड़ेगी. उन्‍होंने कहा कि 500 बसें गाजियाबाद बॉर्डर पर खड़ की थीं. राजस्‍थान बॉर्डर पर भी बसें उपलब्‍ध कराई गई थीं. लेकिन उनके संचालन की अनुमति यूपी सरकार ने नहीं दी. अगर ये बसें चल जाती तो 36000 लोग घर रवाना हो जाते. अगर बसों के कुछ नंबर गलत हैं तो हम नई लिस्‍ट दे देंगे.

योगी सरकार सस्‍ती राजनीति छोड़कर दे अनुमति

वहीं कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को श्रमिकों के लिए मुहैया कराई जा रही बसों को लेकर ‘सस्ती राजनीति’ छोड़कर इन्हें चलाने की अनुमति देनी चाहिए. पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं सह-प्रभारी (उप्र) रोहित चौधरी ने कहा कि पिछले तीन दिनों से एक हजार बसों पर पार्टी कुल 4.60 करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार से अनुमति नहीं मिलने के कारण एक भी श्रमिक को इनसे मदद नहीं की जा सकी.

चौधरी ने एक बयान में कहा, ‘कांग्रेस श्रमिकों की मदद के लिए प्रयास कर रही है, लेकिन उत्तर प्रदेश की सरकार सस्ती राजनीति कर रही है. उसे सस्ती राजनीति छोड़कर बसों को चलाने की अनुमति प्रदान करनी चाहिए.’

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.