महाराष्‍ट्र सरकार में मवालियों और माफियाओं की तूती, राष्‍ट्रपति शासन लागू हो

Ranchi: मुम्बई में कंगना रनौत के घर में बीएमसी द्वारा तोड़फोड़ का विरोध झारखण्ड के वरीय नेता पूर्व मंत्री और विधायक सरयू राय ने किया है. उन्होंने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से मांग की है महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगे.

सरयू राय ने कहा है कि कंगना रणौत का घर तोड़ने के तरीका से साबित हो गया है कि मुंबई में जंगल राज है. महाराष्‍ट्र सरकार में मवालियों और माफियाओं की तूती बोल रही है. वहां संविधान और कानून का शासन समाप्‍त हो गय है. नागरिकों के जान-माल की सुरक्षा नहीं है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाराष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लागू हो.

क्‍या है पूरा मामला

सोशल मीडिया पर बेबाकी से अपनी राय रखना अभिनेत्री कंगना रनौत के लिए मुसीबत साबित हो रहा है. बुधवार को बीएमसी ने अवैध निर्माण का आरोप लगाते हुए कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस को तोड़ दिया है. जिसपर कंगना ने आपत्ति जताई है और कहा है कि इसी वजह से उन्होंने पीओके जैसे शब्द का इस्तेमाल किया था. साथ ही महाराष्ट्र सरकार की इस कार्रवाई को उन्होंने लोकतंत्र की मौत करार दिया है. अब अभिनेत्री ने एक और ट्वीट किया है और कहा है कि उनके ऑफिस में कोई अवैध निर्माण नहीं हुआ था.

‘कोई अवैध निर्माण नहीं हुआ’

कंगना ने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘मेरे घर में कोई अवैध निर्माण नहीं हुआ, साथ ही सरकार ने भी कोविड में 30 सितंबर तक हर तरह की तोड़फोड़ को प्रतिबंधित किया है, बुलीवुड अब देखो, फासीवाद कैसा दिखता है.’ इसके साथ ही कंगना ने #DeathOfDemocracy भी लिखा है. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा है, ‘मैं कभी गलत नहीं थी और मेरे दुश्मन इसे बार बार साबित भी कर रहे हैं, इसलिए मेरी मुंबई अब पीओके है.’ कंगना ने ऑफिस टूटने की तस्वीरें ट्वीट करते हुए ‘पाकिस्तान’ लिखा. अपने ऑफिस के बाहर की तस्वीरें ट्वीट करते हुए उन्होंने ‘बाबर और उसकी सेना’ लिखा.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.