राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सीयूजे के 96 छात्रों को दिया गोल्‍ड मेडल

by

Ranchi: भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने झारखंड के सेंट्रल यूनिवर्सिटी के पहले दीक्षांत समारोह में 96 छात्रों को गोल्‍ड मेडल प्रदान किया. इस दौरान राष्‍ट्रपति ने छात्रों का उत्‍साह बढ़ाते हुए कहा है कि शिक्षा का उद्देश्य केवल डिग्री देना नहीं, बल्कि एक अच्छा इंसान बनाना भी है.

उन्‍होंने कहा कि एक छात्र अच्छा इंसान बनेगा तो वह अच्छा अध्यापक या डॉक्टर बनेगा. संयोग से वह सामाजिक नेता भी बनता है तो वह एक अच्छा सामाजिक नेता बनेगा. छात्रा यदि पढ़कर अच्छा इंसान बनती है तो वह अच्छी पुत्रवधु या सास भी होगी.

राष्ट्रपति ने इस अवसर पर पिछले छह वर्ष में गोल्ड मेडल प्राप्त करने में 96 विद्यार्थियों में 64 बेटियों के होने अर्थात बेटों से दोगुनी संख्या बेटियों के होने पर हर्ष प्रकट करते हुए कहा कि ऐसा सभी विश्वविद्यालयों में हो रहा है. यह भारत के सुनहरे भविष्य की एक झलक है.

उन्होंने साइंस-टेक्नोलॉजी में अभी भी बेटियों के पीछे होने पर चिंता जाहिर करते हुए बताया कि आज (शुक्रवार) को संयोग से राष्ट्रीय विज्ञान दिवस भी है और इस अवसर पर नई दिल्ली में केंद्र सरकार द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में इसपर चर्चा हुई कि कैसे साइंस टेक्नोलॉजी में भी बेटियों को आगे लाया जाए.

उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा इसके लिए कई योजनाएं-कार्यक्रम चलाने की जानकारी देते हुए छात्राओं से इसका लाभ उठाने का आह्वान किया.

राष्ट्रपति ने झारखंड में 26 फीसद जनजातीय आबादी होने का जिक्र करते हुए उपाधि हासिल करनेवाले विद्यार्थियों से इनके विकास के लिए कार्य करने का आह्वान किया. साथ ही विश्वविद्यालयों से सीएसआर की तर्ज पर यूनिवर्सिटी सोशल रेस्पांसिबिलिटी फंड स्थापित कर गांवों को गोद लेने की अपील की.

उन्होंने इसपर संतोष जताया कि झारखंड केंद्रीय विश्वविद्यालय ने पास के पांच गांवों को गोद लिया है तथा वहां के बच्चों को पढ़ाने तथा निश्शुल्क शिक्षण सामग्री देने का बीड़ा उठाया है.

उन्होंने विद्यार्थियों से ग्रामीणों के जीवन स्तर में सुधार लाने, स्वच्छता तथा पोषण के लिए उनके बीच जागरुकता लाने तथा योजनाओं की जानकारी देने का आह्वान किया. इस अवसर पर राष्ट्रपति ने प्रतीकात्मक रूप से दस विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल प्रदान किया.

उन्होंने विश्वविद्यालय के एकेडमिक भवन का उद्घाटन भी किया. मौके पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, विश्वविद्यालय के चांसलर जस्टिस वीएन खरे, कुलपति प्रो. नंद कुमार यादव ‘इंदु’ तथा रजिस्ट्रार प्रो. एसएल हरिकुमार आदि उपस्थित थे.

राष्‍ट्रपति ने अपने संबोधन में महात्‍मा गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि बापू ने कहा था कि शिक्षा व्‍यक्तित्‍व को निखाने का बेहतर साधन है. जिसे अच्‍छी शिक्षा मिलती है, वह अच्‍छा इंसान बनता है.

नालंदा विश्‍वविद्यालय के पुराने गौरव को याद करते हुए राष्‍ट्रपति ने कहा कि वे जब बिहार के राज्‍यपाल थे, तब वहां जाने का मौका मिला. बिहार और झारखंड की समानताओं को उदृत करते हुए कहा कि कल वे गुमला में विकास भारती जा रहे हैं. जहां बेटियों के सामाजिक सरोकार से जुड़े उपक्रमों को परखेंगे.

1 thought on “राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सीयूजे के 96 छात्रों को दिया गोल्‍ड मेडल”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.