झारखंड में कक्षा 1 से 8वीं तक स्‍कूली कक्षाएं दोबारा खोलने की तैयारी

by

Ranchi: साक्षरता विभाग के सचिव राजेश शर्मा ने जिला शिक्षा पदाधिकारियों तथा जिला शिक्षा अधीक्षकों को कक्षा आठ तथा इससे नीचे की कक्षाओं के लिए भी स्कूल खोलने के लिए आवश्यक तैयारी करने के लिए कहा है.

मंगलवार को हुई वीडियो कांफ्रेंसिंग में उन्होंने कहा कि कक्षा आठ तथा इससे नीचे की कक्षाओं के लिए भी स्कूल खोले जा सकते हैं.

इसके लिए स्कूलों में साफ-सफाई, सैनिटाइजेशन, बेंच-डेस्क आदि की मरम्मति आदि का कार्य कर पूरी तैयारी रखें. शिक्षा सचिव ने उन स्कूलों में कक्षा नौ से बारह के विद्यार्थियों की उपस्थिति बढ़ाने के निर्देश दिए हैं, जहां वर्तमान में बहुत कम उपस्थिति है.

उन्होंने कहा कि कई स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति शून्य है. उन्होंने प्रत्येक स्कूलों की निगरानी के लिए बीआरपी-सीआरपी को लगाने के भी निर्देश दिए.

Read Also  राष्ट्रपति चुनाव: एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को जेएमएम के वोट से जीत हार पर क्या फर्क पड़ेगा?

शिक्षा सचिव ने माध्यमिक, उच्च माध्यमिक के साथ-साथ प्रारंभिक स्कूलों में भी शिक्षकों की शत-प्रतिशत उपस्थिति बायोमिट्रिक सिस्टम से सुनिश्चित कराने के भी निर्देश पदाधिकारियों को दिए. शिक्षा सचिव ने सभी पदाधिकारियों को शिक्षकों की सेवा संपुष्ट के मामले का शीघ्र निष्पादन करने के भी सख्त निर्देश दिए.

उन्होंने कहा कि इसमें देरी होने से शिक्षकों में निराशा की भी भावना आती है. जो पदाधिकारी ऐसे मामले को लटकाएंगे, उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

12 नवंबर को 3,509 स्कूलों में होगा नैस

नेशनल अचीवमेंट सर्वे (नैस) 12 नवंबर को 3,509 स्कूलों में होगा. शिक्षा सचिव ने वर्चुअल बैठक में इसकी भी पूरी तैयारी करने के निर्देश पदाधिकारियों को दिए.

बताया गया कि इस बार इस सर्वे के तहत परीक्षा सीबीएसई द्वारा ली जाएगी. अभी तक हुए सर्वे में परीक्षा एनसीईआरटी द्वारा ली जाती थी. बता दें कि इस सर्वे में कक्षा तीन, पांच, आठ तथा दस के विद्यार्थी शामिल होते हैं.

Read Also  सरना धर्मावलंबियों को प्रकृति की अद्भुत शक्ति

शिक्षा सचिव ने नैस की तैयारी के लिए प्रत्येक माह के पहले सप्ताह में होनेवाले मूल्यांकन कार्य का शत-प्रतिशत अनुपालन कराने के लिए कहा.

बता दें कि इसके तहत बच्चों को प्रश्न पत्र दिए जाएंगे, जिसे हल कर बच्चे स्कूलों में बनाए गए ड्राप बाक्स में डालेंगे। इसके बाद शिक्षक उसका मूल्यांकन करेंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.