मुंबई की मॉडल के वीडियो से झारखंड की सियासत गर्म, हेमंत सोरेन पर रेप का आरोप लगाने वाली आयशा खान ने कही बड़ी बात

by

Ranchi: मुंबई की मॉडल आयशा खाने ने एक वीडियो जारी किया है. इसके बाद झारखंड के सियासत का पारा गर्म हो गया है. मॉडल आयशा खान ने 7 साल पहले झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन पर रेप का मामला दर्ज कराया था. अब इस मॉडल ने कई भाजपा नेताओं से जान का खतरा बताया है.

 झारखंड के CM हेमंत सोरेन से जुड़े 7 साल पुराने मुंबई रेप कांड की जिस पीड़ित को न्याय दिलाने की बात BJP नेता करते रहे हैं, उसी महिला ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर BJP के चार नेताओं पर डराने-धमकाने का आरोप लगाया है.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

38 सेकंड के इस वीडियो में महिला ने आरोप लगाया है कि उसे डराया-धमकाया जा रहा है. उसने इस संबंध में पुलिस में शिकायत भी की है. वीडियो में वह आरोप लगा रही है कि उसके बारे सोशल मीडिया पर गलत लिखा जा रहा है. अगर उसे कुछ भी होता है तो इसके लिए BJP के नेता बाबूलाल मरांडी, निशिकांत दुबे, सुनील तिवारी और जहूर आलम जिम्मेदार होंगे.

निशिकांत दुबे ने कहा- जनता सच जानना चाहती है

वीडियो सामने आने के बाद BJP सांसद निशिकांत दुबे ने सोशल मीडिया पर लिखा कि वे इस चुनौती को स्वीकार करते हैं. CM केस दर्ज करवा कर जांच करा लें. उन्होंने मुंबई पुलिस और CBI से भी केस दर्ज कर जांच की मांग की है. उन्होंने कहा है कि जनता 2013 कांड का सच जानना चाहती है.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

BJP ने पीड़िता को सुरक्षा देने की मांग की

इधर, BJP विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि पीड़ित का वीडियो में दिया बयान दस्तावेजों के उलट है. उन्होंने महाराष्ट्र के DGP, मुम्बई पुलिस कमिश्नर और दूसरे अधिकारियों को चिट्ठी लिखकर पीड़ित को सुरक्षा देने की मांग की है.

Read Also  आर्यन खान कब जेल से बाहर आएंगे, आज बॉम्‍बे हाईकोर्ट करेगा फैसला

मरांडी ने गृह मंत्री को पत्र लिखकर मामले की CBI जांच कराने की मांग भी की है. मरांडी ने ये भी कहा कि उन्हें अंदेशा है कि युवती दबाव में बयान दे रही है. 2013 की तरह एक बार फिर पीड़ित पर दबाव बनाकर उससे बयानबाजी कराई जा रही है.

पूरा मामला

मुंबई की मॉडल ने 2013 में झारखंड के CM हेमंत सोरेन पर रेप का आरोप लगाया था. हालांकि, बाद में उसने केस वापस भी ले लिया था. मीडिया के खबरों के मुताबिक, मुंबई हाईकोर्ट में अब नए सिरे से एक पिटीशन फाइल की गई है. मामले को लेकर, सत्तारूढ़ झारखंड मुक्ति मोर्चा ने BJP पर राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिश रचने का आरोप लगाया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.