Take a fresh look at your lifestyle.

खाता न बही, जो कांग्रेस कहे, वही सही : नरेंद्र मोदी

यह आपके पसंद की खबर है तो Comment Box पर Comment जरूर करें. साथ ही Facebook, Twitter और WahtsApp जैसे पसंदीदा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर करें.

0

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने बुधवार को एक ब्लॉग लिखा. इसके जरिये मोदी ने कांग्रेस (Congress) की ‘वंशवादी राजनीति’ पर निशाना साधा है. पीएम मोदी ने ब्लॉग (PM Blog) में लिखा है कि वंशवाद की राजनीति से सबसे अधिक नुकसान संस्थाओं को हुआ है. प्रेस से पार्लियामेंट तक, सोल्जर्स से लेकर फ्री स्पीच तक, कॉन्स्टिट्यूशन से लेकर कोर्ट तक कुछ भी नहीं छोड़ा.

पीएम ने कहा कि राजनीतिक दल उस जीवंत संस्था की तरह होते हैं, जहां भिन्न-भिन्न विचारों का सम्मान होता है. लेकिन दुख की बात है कि कांग्रेस का आंतरिक लोकतंत्र में कोई विश्वास ही नहीं है. अगर कोई नेता पार्टी अध्यक्ष बनने का सपना भी देखे, तो कांग्रेस में उसे फौरन बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है.

इसके साथ ही पीएम मोदी ने लिखा है, ‘कांग्रेस हमेशा से रक्षा क्षेत्र को कमाई के एक स्रोत के रूप में देखती आई है. यही कारण है कि हमारे सशस्त्र बलों को कभी भी कांग्रेस से वह सम्मान नहीं मिला, जिसके वे हकदार थे. 1947 के बाद से ही, कांग्रेस की हर सरकार में तरह-तरह के रक्षा घोटाले होते रहे. घोटालों की इनकी शुरुआत जीप से हुई थी, जो तोप, पनडुब्बी और हेलिकॉप्टर तक पहुंच गई. इनमें हर बिचौलिया एक खास परिवार से जुड़ा रहा है.’

पीएम के ब्‍लॉग में इमरजेंसी

पीएम ने अपने ब्लॉग में इमरजेंसी का जिक्र भी किया है. उन्होंने लिखा है, ’25 जून, 1975 की शाम जब सूरज अस्त हुआ, तो इसके साथ ही भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों की भी तिलांजलि दे दी गई. तत्कालीन प्रधानमंत्री द्वारा जल्दबाजी में दिए गए रेडियो संबोधन को सुनें तो स्पष्ट होता है कि कांग्रेस एक वंश की रक्षा करने के लिए किस हद तक जा सकती है. आपातकाल ने देश को रातों-रात जेल की कोठरी में तब्दील कर दिया. यहां तक कि कुछ बोलना भी अपराध हो गया.’

इकॉनमी की बात करते हुए प्रधानमंत्री ने लिखा है, ‘यह हमारी सरकार की नीतियों और कामकाज का ही असर है कि बीते पांच वर्षों में, भारत दुनिया की शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो गया है. हमारी सरकार के दृढ़संकल्प का ही नतीजा है कि आज भारत ने सेनिटेशन कवरेज में अभूतपूर्व सफलता हासिल की है. 2014 में जहां स्वच्छता का दायरा महज 38% था, वो आज बढ़कर 98% हो गया है. हमारी सरकार के प्रयासों से ही हर गरीब का आज बैंक में खाता है. जरूरतमंदों को बिना बैंक गारंटी के लोन मिले हैं. भविष्य की आवश्यकताओं को देखते हुए इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण किया गया है. बेघरों को घर उपलब्ध कराए गए हैं. गरीबों को मुफ्त चिकित्सा की सुविधा मिली है और युवाओं को बेहतर शिक्षा और रोजगार के अवसर मिले हैं.’

सबसे आखिरी में प्रधानमंत्र मोदी ने ब्लॉग में लिखा कि संस्थाओं को अपमानित करना कांग्रेस का तरीका रहा है. उनकी सोच यही है कि सब गलत हैं, और सिर्फ कांग्रेस सही है. यानि ‘खाता न बही, जो कांग्रेस कहे, वही सही’. जब भी आप वोट देने जाएं, अतीत को एक बार जरूर याद करें कि किस प्रकार एक परिवार की सत्ता की लालसा के चलते देश ने भारी कीमत चुकाई.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More