मिल्खा सिंह के निधन से कुछ मिनट पहले की फोटो: डॉक्टर बोले- फ्लाइंग सिख घंटो जिंदगी की जंग लड़ते रहे,ऐसी हालत में कोई युवा 1 घंटा नहीं जी सकता

by

ये तस्वीर दुनियाभर में फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर पद्मश्री मिल्खा सिंह के निधन से 24 मिनट पहले की है। कोरोना से उबरने के बाद दोबारा बीमार हुए मिल्खा सिंह ने शुक्रवार देर रात 11:24 बजे अंतिम सांस ली। इससे पहले उन्हें 16 जून को रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद PGI के एडवांस कार्डियक सेंटर भर्ती कराया गया था। यहां उनकी हालात स्थिर बनी हुई थी।

17 जून को उन्हें बुखार आया, 18 जून की सुबह ऑक्सीजन लेवल गिर गया। शाम 4 बजे ऑक्सीजन सेचुरेशन 80 से 70 रह गया। ब्लड प्रेशर लेवल 70/30 हो गया। शाम 6 बजे BP और गिर गया। रात 11 बजे ब्लड प्रेशर लेवल 39/20 रह गया था। डॉक्टरों का कहना है कि उनके फेफड़े 80% डैमेज हो गए थे।

Read Also  सन्नी कच्छप बनी कांके दक्षिणी पंचायत की उपमुखिया

फ्लाइंग सिख ने अंतिम सांस तक मौत से लड़ाई लड़ी: डॉक्टर


मिल्खा सिंह को बुधवार से ही सांस लेने में बहुत ज्यादा दिक्कत हो रही थी। उनकी मौत की वजह भी यही रही। डॉक्टर के मुताबिक ऐसी हालत में कोई युवा भी एक घंटा जीवित नहीं रह सकता, लेकिन दिग्गज धावक ने अंतिम सांस तक मौत से लड़ाई लड़ी।

कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई थी, कहते थे- अब जरूरत नहीं


मिल्खा सिंह का इलाज कर रहे डॉक्टर ने बताया कि सुबह तक वे बात कर रहे थे। डॉक्टर ने उनसे नाश्ता करने को कहा तो उन्होंने डॉक्टर से कहा कि पहले तुम भी चाय-कॉफी पी लो। उनकी बेटी के साथ आए परिवार के ड्राइवर ने बताया कि बाबू जी को घर के लोग वैक्सीन लगवाने को कहते थे, लेकिन वे लगवाने से इंकार कर देते थे। कहते थे, अब जरूरत नहीं है।

Read Also  सहायक नगर आयुक्त ने जगन्नाथ मंदिर व आसपास के क्षेत्रों का लिया जायजा

31 दिनों तक चली जिंदगी और मौत से रेस

  • 19 मई: शाम की सैर से लौटने के बाद टेस्ट पॉजिटिव आया। घर में काम करने वाले कुक से वे पॉजिटिव हुए।
  • 24 मई: ऑक्सीजन का स्तर कम होने औ निमोनिया पाए जाने पर फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया।
  • 26 मई: पत्नी निर्मल कौर के साथ ICU से शिफ्ट किया गया, पत्नी भी पॉजिटिव आईं थीं। दोनों ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे।
  • 30 मई: मिल्खा को परिवार के अनुरोध पर अस्पताल से छुट्टी मिली, वे घर पर ऑक्सीजन सपोर्ट के साथ आइसोलेशन में रहे।
  • 3 जून: ऑक्सीजन लेवल गिरना शुरू होने के बाद दोपहर 3:35 बजे PGI के ICU में भर्ती कराया गया।
  • 13 जून: पत्नी निर्मल कौर को कोविड की वजह से खो दिया।
  • 16 जून: कोविड ICU से निगेटिव रिपोर्ट के बाद मेडिसन ICU में भर्ती किया गया। पहली बार रिपोर्ट निगेटिव आई थी।
  • 18 जून: मिल्खा सिंह का ऑक्सीजन लेवल गिर गया और नाजुक हालत में उनका इलाज शुरू किया गया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.