Petrol Diesel Price: पेट्रोल 102 रुपये से ऊपर, 90 पार कर डीजल भी ‘शतक’ की ओर

by

New Delhi: देश के पांच राज्यों के उपचुनाव परिणाम आने के बाद पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ने का सिलसिला लगातार चौथे दिन भी जारी रहा. पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी की परेशानी बढ़ा दी है. देश में शुक्रवार को पेट्रोल 29 पैसे और डीजल 31 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ. इसी के साथ पेट्रोल की कीमत राजस्थान के श्री गंगानगर में 102.15 रुपये और मध्यप्रदेश के अनूपपुर में 101 रुपये के पार पहुंच गई. वहीं देश भर में डीजल के दामों में भी भारी इजाफा देखने को मिल रहा है. फिलहाल, सरकारी तेल कंपनियों ने आज दोनों ईंधन के दाम कोई फेरबदल नहीं किया है.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम 91.27 रुपये रहा, जबकि डीजल का दाम 81.73 रुपये पहुंच गया है. वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत 97.61 रुपये व डीजल की कीमत 88.82 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गई है.  मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में पेट्रोल का भाव 99.35 रुपये और डीजल 90.07 रुपये प्रति लीटर हो गया. डीजल दो महीने में पहली बार 90 पार पहुंचा है. 

Read Also  सोनिया-राहुल संग बैठक में भाग लिये झारखंड कांग्रेस के बड़े नेता, 1 नवंबर से व्‍यापक सदस्‍यता अभियान चलाएंगे

पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह ने बताया कि बीते चार दिन में पेट्रोल 96 पैसे और डीजल 1.11 रुपये महंगा हो चुका है. दाम बढ़ने की रफ्तार यही रही, तो भोपाल में पेट्रोल तीन दिन बाद 100 रुपये के पार पहुंच जाएगा. हालांकि, मध्यप्रदेश के अनूपपुर में पेट्रोल का भाव 101.86 रुपये प्रति लीटर हो चुका है.

राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में भी यह 102.15 रुपये बिक रहा है. भोपाल में पावर पेट्रोल पहले ही 103.02 रुपये लीटर बिक रहा है.

तब 18 दिन तक नहीं बढ़े थे भाव 

बता दें कि पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के दौरान 18 दिन तक पेट्रोल-डीजल के दामों में बदलाव नहीं हुआ था. दो मई को चुनाव नतीजे आने के दूसरे दिन यानी चार मई को पेट्रोल और डीजल के दामो को तेल कंपनियो ने बढ़ाया था. पिछले साल मार्च में केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क बढ़ाया था. इससे पेट्रोल का दाम एक बार में रिकार्ड 21.58 रुपये और डीजल का दाम 19.18 रुपये प्रति लीटर बढ़ गया था. यह दामों में अब तक की सबसे बड़ी बढ़ोतरी थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.