रांची के बीचो बीच अरगोड़ा में पत्‍थलगड़ी, जानिए क्‍या है मकसद

#Ranchi: विभिन्न आदिवासी संगठनों ने रविवार को अरगोड़ा चौक में अमर शहीद वीर बुधु भगत के नाम पर पत्थलगड़ी को पुनर्स्थापित किया. अरगोड़ा मौजा के पाहन शिबू तिग्गा ने विधि विधान से इसका शुद्धिकरण किया व धार्मिक विधि संपन्न करायी. अन्नादि प्रार्थना के साथ चाला, धर्मेश, सिंगबोंगा की आराधना की गयी.

पत्‍थलगड़ी समारोह में कांग्रेसी व आदिवासी नेता हुए शामिल

इस मौके पर केंद्रीय सरना समिति के अध्यक्ष अजय तिर्की ने कहा कि पत्थलगड़ी को तोड़ना आदिवासी संस्कृति को मिटाने का प्रयास है.

यदि अब कोई इस तरह का काम करते पकड़ा गया, तो आदिवासी समाज उसका सेंदरा करेगा.  पूर्व शिक्षा मंत्री सह अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद की प्रदेश अध्यक्ष गीताश्री उरांव ने कहा कि आदिवासियों पर इस तरह के हमले गलत है. आदिवासी वीरों की जीवनी पाठ्यक्रम में शामिल करना चाहिए.

Read Also  रांची में डांडिया नाइट की धूम, बाजार में बढ़ी लहंगा की डिमांड 

संतोष तिर्की ने कहा कि आदिवासी समाज के लिए पत्थलगड़ी एक लिखित दस्तावेज है़  इसे सुरक्षित रखेंगे, तभी हमारा अस्तित्व, सभ्यता, संस्कृति, पहचान व इतिहास सुरक्षित रह पायेगा.  नारायण उरांव ने कहा कि अलग-अलग संगठनों से जुड़े आदिवासी इस  धरोहर को बचाने के लिए एकजुट हुए. यह हर्ष का विषय है.  यह एकजुटता बनी रहनी चाहिए़   इस अवसर पर पूर्व डिप्टी मेयर अजय  नाथ शाहदेव भी उपस्थित थे.

ये भी थे मौजूद: मौके पर केंद्रीय सरना समिति के संदीप तिर्की, चंपा कुजूर, रांची महानगर सरना प्रार्थना सभा के संजय कुजूर, साेनू खलखो, पंकज भगत, प्रदीप तिग्गा, अनिल तिग्गा, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद के  मोती कच्छप, निरंजना हेरेंज टोप्पो, मुन्ना टोप्पो, विकास तिर्की, पवन तिर्की, कुंदरसी मुंडा, प्रकाश मुंडा, राहुल तिर्की, सुनीता मुंडा,  डिबडीह सरना प्रार्थना सभा के पंकज भगत, हिंदपीढ़ी आदिवासी पंचायत समिति के सामू पाहन, विपिन टोप्पो, सुनील मिंज, दीपक बाड़ा, बीजू टोप्पो, राकेश रोशन किड़ो, झारखंड क्रिश्चियन यूथ एसोसिएशन के कुलदीप तिर्की,  आदिवासी छात्र मोर्चा के अजय टोप्पो, अमरनाथ लकड़ा, आकाश तिर्की, आदिवासी युवा मोर्चा के अलबिन लकड़ा, विकास तिर्की, अरुण नगेसिया, प्रो अरुण तिग्गा व अन्य मौजूद थे़

Read Also  रांची में डांडिया नाइट की धूम, बाजार में बढ़ी लहंगा की डिमांड 

इन्होंने योगदान दिया: आयोजन को सफल बनाने में  केंद्रीय सरना समिति, हरमू अरगोड़ा सरना समिति, राजी पड़हा सरना प्रार्थना सभा, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद, आदिवासी युवा संघ, आदिवासी युवा मोर्चा, बारह पड़हा जतरा सरना समिति कोकर, युवा सरना समिति सिरम टोली, आदिवासी एकता मंच, आदिवासी छात्र मोर्चा आदि संगठनों ने सहयोग दिया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.