Take a fresh look at your lifestyle.

रिम्‍स में 481 पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया स्‍थगित करने का आदेश

0 39

Ranchi: झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने रिम्‍स में 481 पदों पर बहाली प्रकिया स्‍थगित करने का आदेश दिया है. मुख्‍यमंत्री ने रिम्‍स निदेशक दिनेश कुमार सिंह को जेवीएम से निष्‍कासित विधायक बंधु तिर्की के शिकायत के बाद दिया है.

ट्राइबल मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल ने बंधु तिर्की के नेतृत्व में मुख्यमंत्री से मुलाकात की. इस दौरान उन्‍होंने रिम्स में नर्स, ओटी असिस्टेंट और वार्ड अटेंडेंट समेत अन्य पदों पर बहाली में आरक्षण प्रक्रिया और नियुक्ति नियमावली का पालन नहीं करने की शिकायत की.

मुख्‍यमंत्री ने दिया जांच का आदेश

इस पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रांची स्थित रिम्स में नर्स, लैब टेक्नीशियन, ओटी असिस्टेंट, वार्ड अटेंडेंट और अन्य पदों पर चल रही बहाली की प्रक्रिया को तत्काल प्रभाव से अगले आदेश तक स्थगित करने का निर्देश रिम्स के निदेशक डॉ दिनेश कुमार सिंह को दिया है. मुख्यमंत्री ने प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग को अपने स्तर पर पूरे मामले के तथ्यों की जांच करने को कहा गया है.

10 फरवरी को होगी उच्चस्तरीय बैठक

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले की समीक्षा के लिए 10 फरवरी को उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई है. इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री , मुख्य सचिव स्वास्थ्य सचिव और रिम्स के निदेशक मौजूद रहेंगे. इस बैठक में रिम्स की बहाली प्रक्रिया को लेकर विस्तार से चर्चा होगी.

नियुक्ति विज्ञापन में गड़बड़ी की शिकायत

ट्राइबल मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री को बताया कि रिम्स में होने वाली नियुक्तियों में अनुसूचित जनजातियों के लिए आरक्षित सीटों को कम करके प्रकाशित किया जा रहा है. शिकायत की गई कि ग्रेड ए नर्स के 362 पदों के लिए निकाले गए विज्ञापन में अनुसूचित जनजाति के लिए पद आरक्षित नहीं किया गया और वार्ड अटेंडेंट के 119 पदों में सिर्फ 16 पद ही अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं.

मुख्‍यमंत्री से यह भी शिकायत की गई कि ओटी असिस्टेंट के लिए अनुसूचित जनजाति के 10 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था, लेकिन अनुभव को आधार बनाकर एक ही अभ्यर्थी को साक्षात्कार के लिए बुलाया गया. एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री से इन सभी नियुक्ति प्रक्रिया को रद्द कर किसी निष्पक्ष एजेंसी से जांच कराने और दोषियों पर उचित कार्रवाई करने की मांग की.

मुख्यमंत्री से मुलाकात करने के लिए आए ट्राइबल मेडिकल एसोसिएशन के प्रतिनिधि मंडल में डॉ निशित एक्का, डॉक्टर लियो, डॉ हिरेंद्र बिरवा और डॉ पंकज बोदरा शामिल थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.