Take a fresh look at your lifestyle.
Browsing Category

रवीश कुमार

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर पत्रकारों, पारा शिक्षकों की पिटाई…

आज कल हर दिन कोई न कोई दिवस यानी डे आ जाता है. एक डे जाता नहीं कि दूसरा डे आ जाता है. हर डे की अपनी प्रतिज्ञा होती है और न भूलने की कसमें होती हैं, मगर ये उसी दिन तक के लिए वैलिड होती है. अगले दिन दूसरा डे आता है, पोस्टर बैनर सब बदल जाता…

प्रेस की आजादी पर 300 अमेरिकी अखबारों के संपादकीय

अमरीकी प्रेस के इतिहास में एक शानदार घटना हुई है. 146 पुराने अख़बार बोस्टन ग्लोब के नेतृत्व में 300 से अखबारों ने एक ही दिन अपने अखबार में प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर संपादकीय छापे हैं. आप बोस्टन ग्लोब की साइट पर जाकर प्रेस की स्वतंत्रता को…

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More