रांची के प्‍ले स्‍कूल में चल रहा था जामताड़ा जैसा ऑनलाइन ठगी का कॉल सेंटर

by

Ranchi: रांची के पंडरा इलाके के पिस्का मोड़ के समीप एक प्ले स्कूल परिसर में कॉल सेंटर चलाया जा रहा था. जानकारी के अनुसार इस प्‍ले स्‍कूल में जामताड़ा के तर्ज पर ऑनलाइन ठगी के लिए इस्‍तेमाल किया जा रहा था. ठगी के लिए यहां पर 8 से 10 कंप्‍यूटर का इस्‍तेमाल किया जा रहा था.  इस ऑनलाइन ठगी के लिए यहां रात-दिन दर्जन भर लोग काम करते थे. जिस मकान में यह ठगी का कारोबार चल रहा था उसका मालिक शंकर प्रसाद गुप्‍ता है. कहा जा रहा है कि ठगी का काम मकान मालिक की जानकारी में चल रहा था. मकान का नाम हरि कुंज है. यह दो मंजिला आलीशान मकान है.

Read Also  प्रमुख ने आधार सेंटर का किया उद्घाटन

झारखंड में लॉकडाउन है. सरकार स्‍वास्‍थ्‍य सुरक्षा सप्‍ताह मना रही है. आवश्‍यक सेवाओं को ही खोलने की अनुमति है. ऐसे में इस प्‍ले स्‍कूल की आड़ में चल रहे कॉल सेंटर में लोगों की आवाजाही की खबर मीडिया को मीली. मीडिया पर इसकी खबर चलने के बाद पुलिस भी सक्रिय हो गई और पंडरा ओपी में एक एफआईआर दर्ज किया गया है.

पुलिस इसे लेकर सरकार की ओर से लागू किए गए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के आदेश का उल्लंघन का मामला मानते हुए एफआइआर दर्ज की गई है. हालांकि प्ले स्कूल की आड़ में इंटरनेट कॉलिंग सेंटर चलाने की बातें भी सामने आई है. पुलिस हर पहलू की जांच-पड़ताल करे तो कई संगीन मामलों का खुलासा हो सकता है. हांलांकि पुलिस का कहना है कि जांच की प्रक्रिया कई बिंदुओं पर की जा रही है. फिलहाल स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह उल्‍लंघन और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत एफआइआर दर्ज की गई है.

Read Also  AJSU:आजसू छात्र संघ ने मनाया शहीद निर्मल महतो का शहादत दिवस

इसमें अभिषेक कुमार सहित अन्य को आरोपित बनाया गया है. पंडरा थाना प्रभारी पृथ्वी सेन दास का कहना है कि इस मामले में कई पहलू सामने आ रहे हैं. फिलहाल डिजास्टर मैनेजमेंट के मामले में एफआइआर दर्ज की गई है. इंटरनेट कॉल सेंटर चलने की जानकारी मिली है. लेकिन किसी तरह के फर्जीवाड़े या गड़बड़ी की बात अभी सामने नहीं आई है. इस मामले में छानबीन की जा रही है.

इस पूरे मामले की तह तक जाने में मीडिया की बड़ी भूमिका है. हालांकि पुलिस इसके तथ्‍यों को खुलासा नहीं कर रही है. लेकिन लोकल खबर अब इस पूरे मामले की परत दर परत खोलेगी और सच सामने लाएगी. जानकारी मिली है कि इस रैकेट को चलाने में बड़े रसूखदार लोगों का समर्थन है. इनमें से कई राजनीतिक दलों के बड़े सफेदपोश चेहरे हैं वहीं कई भ्रष्‍ट अधिकारी का भी नाम शामिल है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.