Take a fresh look at your lifestyle.

ओडिशा में तितली तूफान का कहर, कई राज्‍यों में असर

रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा रद्द

0

Bhubaneswar:  ओडिशा में तितली तूफान का कहर देखा जा रहा है. इस भीषण तूफान का कहर का असर भारत के कई राज्‍यों में भी देखा जा रहा है. मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर दी है. यहां होनी वाली रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं. बंगाल की खाड़ी पर बने दबाव के कारण आया चक्रवाती तूफान ‘तितली’ भयावह रूप लेता नजर आ रहा है. बेहद गंभीर चक्रवात तितली ने गुरुवार तड़के ओडिशा के गंजम जिले के गोपालपुर में दस्तक दी. इस दौरान हवा की रफ्तार 126 किलोमीटर प्रति घंटा थी. जानकारी के अनुसार गोपालपुर में तूफान के कारण कई पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गये हैं साथ ही यहां तेज बारिश हो रही है जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ है. तूफान के कारण इस क्षेत्र में भूस्खलन की भी खबर है. तूफान ‘तितली’ की भयावहता के मद्देनजर ओडिशा सरकार ने 18 जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है. उधर, आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में भी तूफान के कारण भूस्खलन की खबर आ रही है.

ओडिशा में तितली का तूफान कहर के बीच मौसम विभाग ने की चेतावनी जारी

भुवनेश्वर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एच आर बिस्वास ने बताया, “तूफान के जमीन पर दस्तक देने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है और यह ओडिशा तट को कुछ घंटों में पूरी तरह से पार कर जाएगा. यह गोपालपुर के पास से जाएगा.” आईएमडी ने कहा, “तूफान की आंख सरीखे दिखने वाले हिस्से का आगे का क्षेत्र भूखंड (लैंडमास) में प्रवेश कर रहा है.” ओडिशा के गोपालपुर में सतह पर हवा की रफ्तार 126 किमी प्रति घंटे थी जबकि आंध्र प्रदेश के कलिंगपत्तनम में इसकी रफ्तार 56 किमी प्रति घंटे दर्ज की गयी.

यहां होगी अच्छी बारिश

चक्रवात के दस्तक देने के बाद तितली के प्रभावस्वरूप ओडिशा के गंजम, गजपति, पुरी, खुर्दा और जगतसिंहपुर जैसे पांच जिलों में तेज हवा के साथ अच्छी वर्षा हो रही है. भुवनेश्वर स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एच आर बिस्वास ने कहा कि बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान (वीएससीएस), ‘तितली’ की निगरानी विशाखापत्तनम, गोपालपुर और पारादीप स्थित तटीय डॉप्लर मौसम रडार द्वारा की जा रही है. ताजा अवलोकनों से संकेत मिलता है कि पश्चिम-केंद्रीय बंगाल की खाड़ी के ऊपर से ‘तितली’ तूफान पिछले छह घंटों के दौरान लगभग 19 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ा.

पेड़ और बिजली के खंभे उखड़े

जमीन पर दस्तक देने के बाद तूफान के धीरे-धीरे उत्तर-पूर्व में फिर से वक्र करके ओडिशा को पार करके गंगा से लगे पश्चिम बंगाल के हिस्से की तरफ बढ़ने और फिर धीरे-धीरे कमजोर पड़ने की संभावना है. अधिकारियों ने कहा कि तूफान से पेड़ और बिजली के खंभों के उखड़ने और कच्चे मकानों के क्षतिग्रस्त होने की खबर है. गोपालपुर और ब्रह्मपुर सहित कुछ स्थानों पर सड़क संपर्क टूट गया है. इस बीच, ओडिशा सरकार ने स्थिति से निपटने के लिए अपने तंत्र को तैयार रखा है. ओडिशा सरकार ने पहले ही पांच तटीय जिलों में चक्रवात के आगमन से पहले निचले क्षेत्रों और कच्चा मकानों में रहने वाले तीन लाख से अधिक लोगों को वहां से हटाकर सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है.

तीन लाख लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाये गये

चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के बेहद प्रचंड रूप लेने और ओडिशा तट की ओर आगे बढ़ने के बीच राज्य सरकार ने पांच तटीय जिलों के निचले क्षेत्रों से तीन लाख से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. पूरी तरह चौकस ओड़िशा सरकार ने इस आपदा का सामना करने के लिए अपनी पूरी मशीनरी झोंक दी है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा है कि इस भयंकर चक्रवात के मद्देनजर हमने पहले ही तीन लाख लोगों को वहां से खाली करा दिया है तथा और लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा सकता है.

11-12 अक्टूबर को होने वाली रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा रद्द

ओडिशा में तितली का तूफान कहर के मद्देनजर सभी स्कूलों, कॉलेजों और आंगनवाड़ी केंद्रों को गुरुवार और शुक्रवार को बंद रखने का आदेश दे दिया गया है. इसके साथ ही गुरुवार को होने वाले कॉलेज छात्र संघ चुनाव भी रद्द कर दिये गये हैं.  इधर चक्रवाती तूफान ‘तितली’ के मद्देनजर 11 और 12 अक्टूबर को भुवनेश्वर, कटक, ढेंकनाल, संभलपुर, खुर्दा और बेरहमपुर में होने वाली रेलवे भर्ती बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी गयी है. नयी तारीख और जगह का विवरण अभ्यर्थियों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और ई-मेल पर भेज दिया जाएगा.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: