Take a fresh look at your lifestyle.

भारत में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 467 हुई, अब तक 9 लोगों की मौत

0 36

New Delhi: कोरोना का कहर जारी है. इस महामारी की चपेट में अब तक भारत में 467 लोग आ चुके हैं. देश में कोरोना मरीजों की संख्या 433 से बढक़र अब कुल 467 हो गई है. इनमें से 40 मरीज विदेशी हैं, जबकि अब तक देश में 9 लोगों की मौत हो चुकी है और 24 लोग अब तक स्वस्थ्य हो चुके हैं.

कोविड-19 के नए मरीजों के मामले महाराष्ट्र, गुजरात, कनार्टक, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश से सामने आए हैं. सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से हैं. कोरोना के सात नए मामले के साथ अब महाराष्ट्र में संख्या 71 पहुंच गई है. इनमें से कई मामले एक ही शहर से हैं.

इसे भी पढ़ें: न्‍यूजपेपर सेनेटाइज करने के बाद घरों में पहुंचाने का निर्देश

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब देश के 23 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में कोरोना वायरस के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है. इन 23 राज्यों में से कुछ आंकड़े हमें मिले हैं, जिनमें से दिल्ली में 28, केरल में 60, उत्तर प्रदेश में 30, गुजरात में 29, हरियाणा में 12, हिमाचल प्रदेश में 02, जम्मू व कश्मीर में 04, कर्नाटक में 33, आंध्र प्रदेश में 07, लद्दाख में 13, जम्मू व कश्मीर में 04, राजस्थान में 26, तमिलनाडु में 07, तेलंगाना में 11, ओडिशा में 02, पुदुचेरी और छत्तीसगढ़ में एक-एक, चंडीगढ़ में 06, उत्तराखंड में 03, पश्चिम बंगाल में 07 और पंजाब में 21 मामलों की पुष्टि हो चुकी है.

सख्ती से पालन हो लॉकडाउन का आदेश

तेजी से बढ़ते मामले को देखते हुए केन्द्र सरकार ने राज्य सरकारों से कहा है कि वे लॉकडाउन के आदेश का सख्ती से पालन करवाएं. जो इस आदेश की अवहेलना करे, उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए.

इसे भी पढ़ें: कोरोना का खतरा, भारत के 19 राज्यों में लॉकडाउन

उल्लेखनीय है कि देश में कोरोना प्रभावित 75 जिलों को 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है. इन जिलों में सिर्फ आवश्यक सेवाएं ही जारी रहेंगी. दिल्ली में भी सात जिलों को बंद कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें: शिवराज सिंह चौहान ने मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली

घबराएं नहीं, घर में ही रहें:

स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों से अपील कर घर में ही रहने की सलाह दी है. ताकि कोविड-19 बीमारी तेजी से न फैले. इस बीमारी की चेन को खत्म करने के लिए लोगों को सामाजिक दूरी बनाना और घर में ही रहना चाहिए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.