झारखंड चैंबर चुनाव 2020 का नामांकन 6 दिसंबर से होगा शुरू, प्रपत्र भरने से जुड़ी जरूरी बातें

by

Ranchi: फेडरेशन ऑफ झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स एण्ड इन्डस्ट्रीज का वार्षिक चुनाव 20 दिसंबर को निर्धारित है. चुनाव में उम्मीदवारों के लिए नामांकन दाखिल करने की अवधि 6 से 8 दिसंबर 2020 निर्धारित की गई है.

इसे भी पढ़ें: रांची रेलवे स्टेशन पर 24 घंटे उपलब्ध रहेगी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन की एंबुलेंस

चैंबर के चुनावी उम्‍मदवारों के लिए जरूरी जानकारी  

  • ईच्छुक सदस्य अपना नामांकन प्रपत्र समस्त वांछित दस्तावेजों के साथ चैंबर भवन में 6 से 8 दिसंबर तक जमा करा सकते हैं.
  • चुनावी उम्मीदवार नामांकन प्रपत्र में अपना डीन नंबर (डायरेक्टर आईडेंटिफिकेषन नंबर) भरना आवश्‍यक है. बिना डीन नंबर के नामांकन प्रपत्र रद्द कर दिया जायेगा.
  • नामांकन के लिए 3000 रुपये (जीएसटी अतिरिक्त) शुल्क निर्धारित है.
  • समस्त प्राप्त नामांकनों की स्क्रूटनी 8 दिसंबर 2020 को संध्या 4 बजे से की जायेगी.
  • नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 10 दिसंबर निर्धारित है.
Read Also  केंद्र सरकार एफसीआई से धान अधिप्राप्ति का भुगतान करा दे हम किसानों को पूरा पेमेंट कर देंगे- कृषि मंत्री

इसे भी पढ़ें: नासा ने अंतरिक्ष में की मूली की खेती, साझा की फसल की तस्‍वीर

झारखंड चैंबर चुनाव में वर्चुअल मतदान का विकल्‍प

ये जानकारी चुनाव पदाधिकारी विष्णु बुधिया एवं पवन शर्मा ने संयुक्त रूप से देते हुए कहा कि चैंबर की वार्षिक आमसभा 19 दिसंबर को चैंबर भवन में भौतिक रूप से और वर्चुअल दोनों ही माध्यम से आयोजित की गई है. चैंबर भवन में आयोजित आमसभा में केवल 75 लोगों को ही (first come, first serve basis) के आधार पर शामिल होने की अनुमति है. शेष सदस्य चैंबर द्वारा उपलब्ध कराये गये लिंक से जुड़कर वर्चुअल माध्यम से आमसभा में शामिल हो सकते हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि कस्टोडियन कमिटी द्वारा गठित तीन सदस्यीय पूर्व अध्यक्षों की कमिटी के मंतव्य प्राप्ति के उपरांत आगामी दो-तीन दिनों में मतदान की प्रक्रिया पर अंतिम निर्णय लिया जायेगा.

Read Also  झारखंड अनलॉक 3: शॉपिंग मॉल खुलेंगे, सिनेमा-स्‍कूल बंद रहेंगे

चैंबर की कुल सदस्यता संख्या 3444 है. जिनमें आजीवन सदस्य 3134, साधारण सदस्य 215, सम्बद्ध संस्थाएं/जिला चैंबर ऑफ कॉमर्स 81, पेट्रोन सदस्य 2 एवं कारपोरेट सदस्य 12 सम्मिलित हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.