अयोध्या में मंदिर जाने पर प्रतिबंध नहीं, श्रद्धालु कर रहे रामलला के दर्शन

by

Lucknow: अयोध्या भूमि विवाद (Ayodhya Verdict) पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आज आने वाले फैसले से पहले पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट पर हैं. अयोध्या समेत अन्य जिलों में सुरक्षा को लेकर चौकस इंतजाम हैं और सभी जिलों में किसी तरह की अप्रिय घटना न होने देने की ताकीद की गई है. इसके साथ ही उत्तर प्रदेश में धारा 144 (Section 144) लागू कर दी गई है. 

राम लला के दर्शन पर रोक नहीं, बरती जा रही ऐतिहात

एडीजी (अभियोजन) आशुतोष पांडेय ने आज कहा कि भक्त सामान्य दिनों की तरह श्री रामलला के मंदिर में दर्शन कर रहे हैं. मंदिर जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं हैं. सभी बाजार खुले हैं, स्थिति पूरी तरह से सामान्य है. हनुमानगढ़ी के पास शृंगार हाट बैरियर के माध्यम से उन्हें तलाशी के बाद प्रवेश दिया जा रहा है. 

उन्होंने कहा​ कि सुरक्षा के लिहाज से अयोध्या में अर्धसैनिक बल, आरपीएफ और पीएसी की 60 कंपनियां और 1200 पुलिस कांस्टेबल, 250 सब-इंस्पेक्टर, 20 उप-एसपी और 2 एसपी तैनात हैं. सुरक्षा निगरानी के लिए डबल लेयर बैरिकेडिंग, सार्वजनिक पता प्रणाली, 35 सीसीटीवी के साथ 10 ड्रोन लगाये गये हैं. चप्पे-चप्पे पर कड़ी नजर रखी जा रही है. आशुतोष पांडेय को सिक्योरिटी स्कीम का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन कराने के लिए अयोध्या में भेजा गया है. 

अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बताया कि विवादित स्थल को सुरक्षित रखना हमारी प्राथमिकता है, हमने इसके लिए पर्याप्त इंतजाम किए हैं, शहर में सेना तैनात की गई है. शहर में सब कुछ सामान्य है, हम नकारात्मक तत्वों पर नजर रखेंगे. जनपद में मिश्रित आबादी वाले स्थानों पर जनचौपाल लगाकर अमजनमानस से शान्ति एवं सौहार्द बनाये रखने की अपील भी की गई है. 

फैसले के बीच सौहार्द बनाने की अपील

इस बीच सियासी दलों के नेताओं की ओर से आम जनता से सौहार्द बनाये रखने की अपील जारी है. बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने भी लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट किया कि अयोध्या प्रकरण अर्थात रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मालिकाना हक विवाद के सम्बंध में फैसले पर इंतजार की घड़ी समाप्त हुई जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्णय सुनाया जाने वाला है. सभी लोगों से पुनः अपील है कि वे कोर्ट का फैसला स्वीकार करें व इसका सम्मान करें तथा शान्ति बनाए रखें.

प्रियंका गांधी ने कहा- हम सबकी बड़ी जिम्‍मेदारी शांति बनाए रखना

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि जैसा कि आप सबको पता है, अयोध्या मामले पर आज उच्चतम न्यायालय का फैसला आने वाला है. इस घड़ी में न्यायालय का जो भी निर्णय हो, देश की एकता, सामाजिक सद्भाव, और आपसी प्रेम की हजारों साल पुरानी परम्परा को बनाए रखने की जिम्मेदारी हम सबकी है. ये महात्मा गांधी का देश है. अमन और अहिंसा के संदेश पर कायम रहना हमारा कर्तव्य है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.