NEET Exam 2019: साल में दो बार परीक्षा कराने पर संकट

#New Dehli: केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक महीने पहले नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट परीक्षा (NEETUG) साल में दो बार कराने की घोषणा की थी और योजना के तहत इसकी शुरुआत साल 2019 से होने वाली थी. लेकिन अब ऐसा लगता है कि Ministry of HRD की यह योजना 2019 में लागू नहीं हो सकेगी. क्योंकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने Ministry of HRD को नीट 2019 को ऑफलाइन मोड में कराने का प्रस्ताव भेजा है.

IIT का अब साल में दो बार आयोजन

वहीं दूसरी ओर इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा IIT JEE को साल में दो बार ही आयोजित किया जाएगा. बता दें कि अब नीट और IIT JEE की परीक्षाएं CBSE आयोजित नहीं करेगा, बल्कि इसे नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानि एनटीए आयोजित करेगी. यह भी घोषणा की गई थी कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी सभी परीक्षाएं ऑनलाइन आयोजित करेगी. मंत्रालय ने यह भी घोषणा की थी कि नीट यूजी को साल में दो बार फरवरी और मई में आयोजित किया जाएगा.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के दबाव में HRD Department

एक रिपार्ट के अनुसार स्वास्थ्य मंत्रालय के दबाव में आकर अब Ministry of HRD नीट परीक्षा साल में दो बार कराने के अपने फैसले पर दोबारा विचार कर रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने साल 2019 में पेन-पेपर मोड में ही परीक्षा आयोजित करने का सुझाव दिया है.

अधिकारियों के अनुसार मानव संसाधन विकास मंत्रालय इस मामले पर विचार कर रहा है और अगले सप्ताह कोई फैसला ले सकता है. Ministry of HRD के अधिकारियों के अनुसार स्वास्थ्य मंत्रालय यह भी चाहता है कि CBSE, परीक्षा के लिए एनटीए की मदद करे क्योंकि CBSE लंबे समय से परीक्षा आयोजित करता रहा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.