Take a fresh look at your lifestyle.

आज दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे नरेंद्र मोदी

0

New Delhi: मनोनीत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) के दूसरे शपथ ग्रहण (Modi swearing) के भव्य समारोह की तैयारियां पूरी कर ली गयीं हैं. सबसे पहले मेहमान के रूप में बंगलादेश के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्दुल हमीद बुधवार की शाम यहां पहुंच गये.

कड़े सुरक्षा प्रबंध के बीच राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में गुरुवार शाम सात बजे शपथग्रहण समारोह आरंभ (Modi swearing date 2019) होगा. इसमें नरेंद्र मोदी के साथ पचास से अधिक मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद प्रधानमंत्री एवं मंत्रिपरिषद के सदस्यों को शपथ दिलाएंगे.

शपथग्रहण समारोह में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों के साथ विभिन्न क्षेत्रों की प्रमुख हस्तियों तथा अनेक विदेशी मेहमानों को भी निमंत्रण भेजा गया है.

पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा के शिकार बने लोगों के परिजनों को भी शपथग्रहण समारोह में आमंत्रित किया गया है. प्रधानमंत्री कल शपथ लेने से पहले राजघाट जाकर महात्मा गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे और फिर पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की समाधि पर भी श्रद्धांजलि देंगे.

वह इंडिया गेट के समीप युद्ध स्मारक जाकर शहीद सैनिकों को भी पुष्पांजलि अर्पित करेंगे. श्री मोदी ने बंगाल की खाड़ी के तटवर्ती एवं समीपवर्ती देशों के अंतरराष्ट्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग संगठन बिम्सटेक के सदस्य देशों बंगलादेश, भूटान, नेपाल, श्रीलंका, म्यांमार और थाईलैंड के अलावा किर्गीज गणराज्य और मॉरीशस के नेताओं को समारोह में आमंत्रित किया है.

बंगलादेश के राष्ट्रपति श्री हमीद शाम साढ़े सात बजे विशेष विमान से नयी दिल्ली पहुंच चुके हैं. मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविन्द कुमार जगन्नाथ, भूटान के प्रधानमंत्री लोते शेरिंग, म्यांमार के राष्ट्रपति यू विन मिन्त, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना, नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली और थाईलैंड के विशेष राजदूत ग्रिसाडा बूनराच कल दोपहर तक पहुंच जाएंगे. शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के वर्तमान अध्यक्ष किर्गीज गणराज्य के राष्ट्रपति सूरोन जीनबेकोव भी आ रहे हैं.

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद, कई अन्य दलों के प्रमुख नेता शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पहले आने की सहमति जतायी थी, लेकिन बाद में उन्होंने मना कर दिया.

मंत्रिमंडल के गठन को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मंगलवार एवं बुधवार को प्रधानमंत्री के साथ दो दौर की लंबी विचार मंत्रणा हुई. श्री शाह ने आज ही जनता दल यूनाइटेड के नेता एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी चर्चा की. श्री कुमार की पार्टी निवर्तमान सरकार में शामिल नहीं थी.

नयी लोकसभा में राजग के 353 सदस्यों में से 303 सदस्य भाजपा के हैं और अन्य 50 सदस्य सहयोगी दलों के हैं. लोकजनशक्ति पार्टी की ओर से श्री रामविलास पासवान ही मंत्रिमंडल में शामिल होंगे.

भाजपा के शीर्षस्थ नेताओं में से एक अरुण जेटली ने स्वास्थ्य कारणों से मंत्री बनने से इनकार कर दिया है. उनकी भूमिका को देखते हुए श्री मोदी देर रात उनके आवास पर गये और उनसे अपने निर्णय पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया.

श्री शाह और श्रीमती सुषमा स्वराज के नई कैबिनेट में आने को लेकर विभिन्न प्रकार की अटकलें लगायीं जा रहीं हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पराजित करने वाली स्मृति ईरानी के विभाग को लेकर भी अटकलें लगायीं जा रहीं हैं. ऐसा माना जा रहा है कि पश्चिम बंगाल से भाजपा के विजयी 18 उम्मीदवारों में से कइयों को 2021 के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखकर मंत्री बनाया जा सकता है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More