नागपुरी विद्वान गिरिधारी राम गोंझू थे बीमार, हर अस्‍पताल ने भर्ती लेने से किया इनकार, ईलाज के अभाव में मौत

by

Ranchi: नागरपुरी विद्वान गिरिधारी राम गोंझू की असामयिक निधन हो गई है. वे कई दिनों से बीमार थे. परिजनों ने  इलाज के लिए रांची के कई सरकारी और प्राइवेट अस्‍पतालों का चक्‍कर काटा. लेकिन, उन्‍हें इलाज के लिए कहीं भी बेड नहीं मिला. इलाज के अभाव में उनकी असामयिक मौत हो गई.

कोविड जांच के पहले हुआ निधन

जानकारी के अनुसार डॉ गिरिधारी राम गौंझू को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. उन्हें इलाज के लिए मेडिका अस्पताल, सेंटेविटा हॉस्पिटल और  गुरुनानक अस्पताल में दाखिल करने के लिए ले जाया जाया गया था, लेकिन कोविड जांच नहीं होने की बात कह कर उनको दाखिल नहीं किया गया. इसके बाद उन्हें कोविड जांच के लिए ले जाया गया लेकिन इसी दौरान उनका निधन हो गया.

लोकल खबर को दिया था आखिरी इंटरव्‍यू

इसके कुछ दिन पहले जब गिरधिारी राम गोंझू स्‍वस्‍थ थे लोकल खबर की टीम झारखंड ने उनका इंटरव्यू यहां रहने वाले आदिवासियों के जीवन शैली, खान-पान, लोक-नृत्‍य, कला-संस्‍कृति से संबंधित कई महत्‍वपूर्ण विषयों पर बातचीत की थी. यह आने वाले दिनों में विशेष रेडियो और वीडियो सीरिज में प्रसारित होंगे.

डॉ गिरिधारी राम गौंझू नागपुरी भाषा के अच्छे जानकार थे

उनकी कई किताबें भी प्रकाशित हुई हैं.  डॉ गिरिधारी राम गौंझू सामाजिक और सांस्कृतिक गतिविधियों में काफी सक्रिय रहते थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.