MS Dhoni ने अपने लंगोटिया दोस्‍त को एक समोसा खिलाकर सीखा था फेवरेट हेलीकॉप्‍टर शॉट | Friendship Day 2021

by

Ranchi: आपको इंडियन क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के उस दोस्‍त की दास्‍तान बताने जा रहे हैं, जिसने उन्‍हें हेलीकॉप्‍टर शॉट खेलना सिखाया. रांची के रहने वाले एमएस धानी की बायोपिक ‘महेन्द्र सिंह धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी’ आप सभी ने देखी होगी.

इस फिल्म को खूब पसंद किया गया. फिल्म में धोनी के जीवन को बखूबी दिखाया गया है. खासकर उनका बचपन, उनका खेल के प्रति प्रेम और अपने दोस्तों के लिए प्यार और सम्मान. धोनी की कप्तानी के कायल तो सभी हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि धोनी का पसंदीदा हेलीकॉप्टर शॉट उनका खुद का नहीं है बल्कि उनके एक लंगोटिया दोस्त का है. जिसकी कहानी भी धोनी ने पर्दे पर दिखाई है.

Read Also  Images: MS Dhoni के साथ फुटबॉल खेलने पहुंचे Ranveer Singh, गले लगाकर भावुक हुए

किसने सिखाया हेलीकॉप्टर शॉट

धोनी को लंगोटिया दोस्त संतोष ने उन्हें ये शॉट सिखाया था. जब धोनी दोस्तों के साथ मैच खेल रहे थे, उसी दौरान संतोष यह शॉट मारते थे. धोनी इस शॉट से बेहद प्रभावित हुए और उन्होंने संतोष को यह शॉट सिखाने के लिए कहा.

लंगोटिया दोस्त ने सिखाया हेलीकॉप्टर शॉट

महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट में हेलीकॉप्टर शॉट लाए, और ये इतना प्रसिद्ध हो गया कि लोग इस शॉट के दीवाने हो गये. इस शॉट को सिखने के लिए धोनी अपने दोस्त को हर दिन एक समोसा जरूर खिलाते थे. धोनी के कोच रहे रांची के चंचल भट्टाचार्य इस दोस्‍ती के बारे में बताते हुए कहते है.

शॉट का नाम हेलीकॉप्टर शॉट नहीं था

धोनी ने जब पहली बार इस शॉट को देखा और अपने दोस्त संतोष से इस शॉट के बारे में पूछा तो उन्होंने इसे थप्पड़ शॉट का नाम दिया. लेकिन जब धोनी ने ये शॉट मैदान पर खेला, तो लोगों ने इसे हेलीकॉप्टर शॉट का नाम दे दिया.

Read Also  Images: MS Dhoni के साथ फुटबॉल खेलने पहुंचे Ranveer Singh, गले लगाकर भावुक हुए

गंभीर बीमारी से ग्रस्त थे संतोष

महेंद्र सिंह धोनी के दोस्त और रणजी क्रिकेटर संतोष लाल बेहद करीब के दोस्त थे, लेकिन उनकी मौत पैन्क्रियाज में इन्फेरक्शन हुई थी. डॉक्टरों की हर संभव कोशिश के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका.

धोनी ने दोस्त को बचाने के लिए की थी हर संभव मदद

धोनी और संतोष कॅरियर के शुरुआती दौर में साथ-साथ क्रिकेट खेला करते थे. धोनी ने उनकी बीमारी का पूरा खर्च उठाया था. धोनी ने उन्हें एयर एंबुलेंस से रांची से दिल्ली शिफ्ट करवाया और उनका इलाज एम्स में करवाया, लेकिन वह 32 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.