लोगों की बुनियादी समस्याएं हमारी प्राथमिकता – अपना दल (एस) समर्थित निर्दलीय महापौर प्रत्यासी कैलाश गावंडे

by

– कोविड में जान गंवाने वाले निगमकर्मियों के परिजनों को पांच लाख मुआवजा
– 5 वर्ष से अधिक समय से कार्य कर रहे नगर निगम कर्मचारियों को करेंगे नियमित
– आधुनिकता से जुड़ेंगे शासकीय विद्यालय

इंदौर : मध्य प्रदेश नगरीय निकाय चुनाव में इंदौर महापौर पद के लिए 19 उम्मीदवार सियासी मैदान में खड़े हैं. इनके साथ 6 जुलाई को होने वाली वोटिंग में अपना दल (एस) समर्थित निर्दलीय महापौर प्रत्यासी कैलाश गावंडे भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, जिन्होंने शहरवासियों से चुनाव चिन्ह गैस सिलेंडर पर मुहर लगाकर, स्वच्छता की चादर में लिपटे शहर की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने की अपील की है. पहली बार शहर की कमान संभालने के लिए इंदौर के गली मोहल्ले में जन-जन से संपर्क साध रहे कैलाश गावंडे का कहना है कि जिसने शहर को जमीनी स्तर पर देखा है, मोहल्लों और बस्तियों की दिक्कतों को समझा है, उसे शहरवासियों के लिए काम करने का एक मौका जरूर मिलना चाहिए. दूसरी तरफ नेता नहीं, बेटा चुनें के स्लोगन के साथ गावंडे के समर्थकों ने बीजेपी-कांग्रेस जैसे विरोधी खेमे भी खलबली मचा रखी है। गावंडे के मुताबिक, इन चुनावों में पैसे वाले लोग खड़े हैं, और उनके पास चुनाव में पानी की तरह बहाने के लिए पैसा नहीं है, लेकिन वह शहर के लिए काम करने का हौसला और प्रेरणा जरूर रखते हैं.मीडिया बातचीत में उन्होंने कहा, नगरवासियों के लिए निगम नेताओं की गुंडागर्दी, सालों से बंद पड़े प्रोजेक्ट, शासकीय स्कूलों का आधुनिकरण, वार्ड स्तर पर शासकीय अस्पताओं का निर्माण, प्राइवेट स्कूलों की मनमानी पर लगाम, कोविड में जान गंवाने वाले निगमकर्मियों के परिजनों को पांच लाख मुआवजा राशि और 5 वर्ष से अधिक समय से कार्य कर रहे नगर निगम कर्मचारियों को नियमित किए जाने जैसे अन्य कई विषय हैं, जिन पर जनसेवा का मौका मिलने पर तेजी से कार्य किया जाएगा.

अपना चुनावी कैम्पेन शुरू करने से पूर्व अपना दल (एस) प्रदेश अध्यक्ष अमृतलाल पटेल, जिला अध्यक्ष टीकमचंद्र शर्मा व सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ गावंडे राजवाड़ा पहुंचे, जहां उन्होंने राजमाता अहिल्या बाई होल्कर की प्रतिमा पर दुग्ध व जल से अभिषेक कर के माल्यार्पण किया और मां अहिल्या बाई होल्कर से आशीर्वाद प्राप्त किया. बता दें कि अपना दल (एस) ने नगर परिषद व पंचायत चुनावों में अपनी सक्रियता से आगामी विधानसभा चुनाव 2023 का बिगुल भी फूंक दिया है.पिछले दिनों कार्यकारिणी की बैठक में प्रदेश भर में एक करोड़ से अधिक नए सदस्य जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया है, और सूबे की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने की नीतियों पर आगे बढ़ रही है.

अपना दल (एस) समर्थित इंदौर महापौर प्रत्यासी कैलाश गावंडे की टक्कर भाजपा के महापौर प्रत्याशी पुष्यमित्र और कांग्रेस के संजय शुक्ला समेत अब तक नामांकन भरने वाले कुल 19 प्रत्याशियों से होगी। वहीं महापौर चुने जाने पर गावंडे द्वारा हर वार्ड में शासकीय अस्पताल का निर्माण कराना, उद्योगों से जुड़ी नई नीतियां तैयार कर के, रोजगार सृजन, जनता का पैसा जनता के विकास कार्य में ही खर्च करना जैसी नीतियों को लागू करने का आश्वासन भी दिया गया है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.