रांची में 2500 सहायक पुलिसकर्मियों का आंदोलन खत्‍म

by

Ranchi: रांची में 2500 सहायक पुलिस‍कर्मियों का 12 दिनों से चला आ रहा आंदोलन 23 सिंतबर की शाम को खत्‍म हो गया. इसके पहले झारखंड सरकार के मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर की सहायक पुलिसकर्मियों के साथ कई दौर की वार्ता हुई.

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के निर्देश पर मंत्री पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर के प्रयासों से सहायक पुलिसकर्मियों ने आज हड़ताल समाप्ति की घोषणा की है. सहायक पुलिसकर्मियों ने हड़ताल स्थगित करने व काम पर लौटने की बात कही है. पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के मंत्री मिथिलेश कुमर ठाकुर के आवास पर हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों ने हड़ताल खत्म करते हुए डयूटी पर जाने की घोषणा की.

तीन मांगों पर बनी सहमति

मंत्री मिथिलेष कुमार ठाकुर ने कहा है कि सभी सहायक पुलिसकर्मियों को फिलहाल दो वर्षों की सेवा अवधि विस्तार दिया गया है. इसके अलावे मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने बताया कि सरकार हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों की तीन मांगों पर तैयार है जिसमें सेवा विस्तार, मानदेय में वृद्धि और पुलिस नियुक्ति में वेटेज (अंक) संबंधी लाभ दिया जायेगा. इसके अतिरिक्त इनकी जो जायज मांगे होंगी वह सचिवों की उच्चस्तरीय समिति तय कर के इनकी मांगों पर सुझाव देंगे.

मिथिलेश ठाकुर ने सीएम संग की बैठक

मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों की मांगों को लेकर मुख्यमंत्री आवास में हेमंत सोरेन के साथ बैठक की. मुख्यमंत्री से मिलकर लौटने के बादमंत्री मिथिलेश ठाकुर ने दोबारा हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों के साथ वार्ता की. जिसके बाद हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों ने हड़ताल तोड़ने की घोषणा की.

मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने मिठाई खिलाकर सहायक पुलिसकर्मियों का हड़ताल खत्म कराया. हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों का प्रतिनिधिमंडल मंत्री मिथिलेश ठाकुर के आवास पर सुबह से ही जुटा हुआ था. हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों ने कहा है कि वे अब सरकार के साथ हैं. उन्हें सरकार से कोई शिकवा-शिकायत नहीं है. अब सभी जवान अपने जिले में लौटेंगे और अपनी सेवा देंगे.

इस पूरे मामले पर मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने सकारात्मक रूख अपनाया था और निरंतर हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों के संपर्क में थे. विदित है कि कुछ दिनों पूर्व हड़ताली सहायक पुलिसकर्मियों का हड़ताल तुडवाने के लिये मंत्री मिथिलेश ठाकुर मोरहाबादी मैदान भी गये थे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.