Monsoon skin care के लिए बड़े काम का है Neem Face Pack

by

Neem Face Pack In Monsoon skin care: मानसून (Monsoon) के मौसम मे स्किन प्रॉब्लम्स एक आम समस्‍या है. बारिश होते ही वातावरण में गर्मी और ह्यूमिटी बढ़ जाती है और पसीना आदि से चेहरे पर मुंहासे और पिंपल्स आदि होने शुरू हो जाते हैं. ये मुंहासे मार्केट में कई तरह के प्रोडक्ट्स के प्रयोग के बाद भी जाते नहीं, बल्कि कई प्रोडक्‍ट को यूज करने से तो ये और अधिक मात्रा में होने लगते हैं.

ऐसे में घरेलू उपायों (Home Remedies) की मदद से मुंहासे और पिंपल्स की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. इसके लिए आप नीम के पत्तों का इस्तेमाल हम कर सकते हैं.

नीम के गुण

नीम (Neem) के पत्‍तों में एंटी बैक्‍टीरियल गुण होते हैं जो स्किन पर होने वाले बैक्‍टीरिया आदि को खत्‍म करते हैं और मुंहासों आदि की समस्‍या को दूर कर सकते हैं. यही नहीं, इसकी मदद से चेहरे पर प्राकृतिक निखार भी लाया जा सकता है. ये स्किन को जवां बनाएं रखने में भी काफी सहायक है. इसके अलावा अगर चेहरे पर मुंहासों आदि के दाग हो गए हों तो नीम के इस्‍तेमाल से आप इससे भी छुटकारा पा सकते हैं.

नीम के पत्ते का इस्तेमाल त्वचा को डीप क्लीन करने और पोर्स के क्‍लॉग्‍स को ओपन करने के लिए भी किया जा सकता है. यही नहीं, मॉनसून में चेहरे को रिफ्रेश और हाइड्रेट रखने के लिए भी नीम के पत्ते का इस्तेमाल किया जा सकता है. तो आइए जानते हैं कि नीम के फेस पैक को किस तरह बनाएं और प्रयोग करें.

इस तरह करें नीम के पत्‍ते का प्रयोग

1.शहद के साथ प्रयोग

शहद और नीम के पत्‍ते से फेस पैक बनाने के लिए ह में 10 से 20 नीम के पत्ते, दो चम्मच शहद और चुटकी भर दालचीनी का पाउडर चाहिए. सबसे पहले नीम की पत्तियों को अच्छे से पीस कर पेस्ट बनाएं और इस पेस्ट में शहद और दालचीनी मिलाकर पैक बनाएं. अब आप इसे अपने चेहरे पर अप्‍लाई करें. अगर आपको मुंहासों की समस्या है तो इस पेस्‍ट को 10 मिनट के लिए लगाए रखें और बाद में पानी से धो लें.

2.मुल्तानी मिट्टी के साथ प्रयोग सामग्री

फेसपैक बनाने के लिए 15 नीम की पत्तियां लें और पीस कर पेस्‍ट बना लें. अब इसमें 2 टेबल स्पून गुलाब जल मिलाएं और इस पेस्‍ट में 2 चम्मच मुल्तानी मिट्टी डालें. पेस्‍ट अगर गाढा अधिक हो गया है तो आप थोड़ा सा और गुलाब जल डाल सकते हैं. इस पेस्‍ट को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 20 मिनट के बाद धो लें. पोछने के बाद गुलाब जल से चेहरा वाइप करें.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Local Khabar इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.