Take a fresh look at your lifestyle.

सस्‍ता सोना खरीदने का मौका दे रही है मोदी सरकार की सॉवरेन गोल्ड बांड 2019-20

0 116

New Delhi: अगर आप भी सोना खरीदने या फिर सोने में निवेश की योजना बना रहे हैं,तब मोदी सरकार आपको एक खास मौका देने जा रही है. केन्द्र सरकार ने सोमवार से सॉवरेन गोल्ड बांड 2019-20 (सीरीज-10) की शुरुआत कर दी है, जिसके तहत आप सस्ते में सोना खरीद सकते हैं.

सरकार की तरफ से यह आखिरी पेशकश है. इसमें अगर आप ऑनलाइन निवेश करते हैं,तब आपको कीमत में छूट भी मिलेगी.

दरअसल कोरोना वायरस की वजह से शेयर बाजार में भूचाल के बीच निवेशकों के हजारों करोड़ डूब गए. इसमें निवेशक सुरक्षित निवेश की तलाश कर रहे हैं. इसमें सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम बेहतर विकल्प साबित हो सकता है. इस बार गोल्ड बॉन्ड का इश्यू प्राइस 4,260 रुपए प्रति ग्राम निर्धारित किया गया है.

ऑनलाइन खरीद सकते हैं सॉवरेन गोल्ड बांड 2019-20

आप इस गोल्ड बॉन्ड के लिए ऑनलाइन तरीके से आवेदन कर भी खरीद सकते हैं. यानी अगर आप ऑनलाइन तरीके से गोल्ड बॉन्ड खरीदते हैं और उसका भुगतान भी डिजिटल तरीके से करते हैं तो आपको ये गोल्ड बॉन्ड 4,210 रुपए प्रति ग्राम का मिलेगा.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्‍कीम के तहत गोल्‍ड बॉन्‍ड पर कुछ शर्तें हैं, जिसका आपको पालन करना होगा. पहली, कोई भी व्यक्ति एक वित्तीय वर्ष में अधिकतम 500 ग्राम के गोल्‍ड बॉन्ड खरीद सकता है. इस बॉन्ड में न्यूनतम निवेश एक ग्राम है. इसके निवेशकों को टैक्‍स पर भी छूट मिलती है. निवेशक स्‍कीम के द्वारा बैंक से लोन भी ले सकते हैं.

स्कीम का मकसद सोने की फिजिकल डिमांड को कम करना है. इसके तहत सोना खरीदकर घर में नहीं रखा जाता है बल्कि बॉन्ड में निवेश के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है.

सॉवरेन गोल्ड बांड 2019-20 में निवेश की आखिरी तारीख

आप 2 मार्च से लेकर 6 मार्च तक सरकार की स्कीम के तहत निवेश कर सकते हैं. आपको 11 मार्च 2020 तक बॉन्ड मिल जाएगा. बॉन्ड की बिक्री कॉमर्शियल बैंक, भारतीय स्टॉक होल्डिंग निगम लिमिटेड (एसएचसीआईएल) और कुछ चुनिंदा डाकघरों तथा मान्यताप्राप्त शेयर बाजारों जैसे भारतीय राष्ट्रीय स्टॉक एक्सचेंज लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से की जाएगी.

बता दें कि भारत बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन लिमिटेड की ओर से पिछले 3 दिन 999 प्योरिटी वाले सोने की दी गई कीमतों के आधार पर इस बांड की कीमत रुपये में तय होती है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.