Modi 2.0: 7 राज्यों की विधानसभा चुनाव के पहले कैबिनेट में बड़े बदलाव की तैयारी

by

New Delhi: अगले 12 महीने में 7 राज्यों में विधानसभा चुनाव होंगे. फिलहाल इसकी गहमागहमी राज्यों से ज्यादा दिल्ली में दिख रही है. इन चुनावों और अगले 2 साल के राजनीतिक घटनाक्रम को साधने की कोशिश में ही केंद्रीय मंत्रिमंडल में बहुप्रतीक्षित फेरबदल की तैयारी है. केंद्र में कई मंत्री तीन से चार विभागों का काम देख रहे हैं. ऐसे में कैबिनेट विस्तार के कयास काफी समय से थे. कैबिनेट पुनर्गठन में जहां के 6-7 चेहरों की एंट्री संभावित है, वहीं कई मंत्रियों के प्रभार बदल सकते हैं.

चुनावी राज्यों का गणित साधने के लिए यह फेरबदल इतना व्यापक हो सकता है कि 24 मंत्रालयों में चेहरे बदल जाए. जुलाई के दूसरे पखवाड़े में होने वाले संसद के मानसून सत्र से पहले यानी जून के अंत तक पीएम मोदी अपग्रेडेड कैबिनेट को अंतिम रूप दे सकते हैं. 6-7 राज्यों में भाजपा सरकार है.

Read Also  महाराष्‍ट्र के पूर्व मंत्री और बड़े कारोबारी ने रची थी हेमंत सरकार गिराने की साजिश!

बिहार से कई दावेदार

भाजपा पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी या प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल को केंद्र में ला सकती है. सहयोगी दल जदयू के कोटे से अभी कोई मंत्री नहीं है. संतोष कुशवाहा ललन सिंह व आरसीपी सिंह की दावेदारी है.

महाराष्ट्र से फडणवीस की एंट्री

शिवसेना के एनडीए से हटने से महाराष्ट्र का कैबिनेट में प्रतिनिधित्व कम हुआ है शिवसेना के अरविंद सावंत भारी उद्योग मंत्री थे. अब पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस को केंद्र में मौका दिया जा सकता है.

कुछ को प्रमोशन कुछ नए चेहरे

राज्यों में सरकार चलाने का अनुभव रखने वालों को मौका दिया जा सकता है. इस कड़ी में सुशील मोदी और फडणवीस के साथ असम के पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल का भी नाम है. स्मृति ईरानी को अहम जिम्मेदारी देने, अनिल बलूनी तथा मीनाक्षी लेखी को सरकार में लाने की चर्चा है.

Read Also  हेमंत सरकार गिराने की साजिश में शामिल कांग्रेसी विधायकों के खिलाफ हो सकती है कार्रवाई

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.