Take a fresh look at your lifestyle.

सोशल मीडिया पर भी आदर्श आचार संहिता लागू

यह आपके पसंद की खबर है तो Comment Box पर Comment जरूर करें. साथ ही Facebook, Twitter और WahtsApp जैसे पसंदीदा सोशल मीडिया प्लेतटफॉर्म पर शेयर करें.

0

New Delhi: चुनाव आयोग (Election Commission of India) ने मंगलवार को सोशल मीडिया कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ लोकसभा चुनाव (Lok Sabaha Election 2019) के दौरान सोशल मीडिया के दुरूपयोग को रोकने के विकल्पों पर करीब दो घंटे तक विचार किया.

Like पर Click करें Facebook पर News Updates पाने के लिए

चुनाव आयोग में हुई बैठक में  इंटरनेट और मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (IAMAI), फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, गूगल, शेयरचैट, टिक टॉक और बिगटीवी जैसे सामाजिक मीडिया संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया.

चुनाव आयोग के निर्देश

चुनाव आयोग के अधिकारीयों के मुताबिक बैठक में मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोरा ने सोशल मीडिया के प्रतिनिधियों से कहा की वो मॉडल कोड ऑफ़ कंडक्ट की तर्ज पर एक कोड तैयार करें. जो आगामी चुनाव और लॉन्ग टर्म दोनों में इस्तेमाल हो सके.

बैठक के बाद चुनाव आयोग की एक ऑफिसियल रिलीज़ में कहा गया है कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स और इंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया पूरे उद्योग के लिए एक कोड ऑफ एथिक्स यानी नैतिकता की संहिता तैयार करने पर राजी हो गए हैं.

सख्ती से कारवाई

रिलीज के मुताबिक  कोड ऑफ एथिक्स की ऑपरेशनल डिटेल्स बुधवार शाम तक जारी कर दी जाएगी. जहां कहा गया है कि सोशल मीडिया कंपनियां उनके प्लेटफार्म का दुरूपयोग करने वालों के खिलाफ सख्ती से कारवाई करें.

चुनाव आयोग लोक सभा चुनावों के दौरान सोशल मीडिया के किसी भी संभावित दुरूपयोग को रोकना चाहता है और सोशल मीडिया कंपनियों के साथ इन बैठकों के ज़रिये मंशा ये मैसेज देने की भी है की इन मामलों में सोशल मीडिया कम्पनियों की भी ज़िम्मेदारी तय की जाएगी.लेकिन आयोग को फेक न्यूज़ मैन्युफैक्चर करने के दोषियों के खिलाफ सख्ती से करवाई करने के लिए भी अलग से रणनीति बनानी होगी.

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More