कोयला मंत्रालय ने स्‍वच्‍छता के लिए रजरप्‍पा क्षेत्र को दिया प्रथम पुरस्कार

by

Ranchi: कोयला मंत्रालय ने सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) के रजरप्‍पा क्षेत्र को स्‍वच्‍छता के लिए प्रथम पुरस्कार से सम्‍मानित किया है. सोमवार को सीसीएल मुख्‍यालय दरभंगा हाउस स्थित ‘विचार मंच’ में ‘सम्‍मान समारोह’ का आयोजन किया गया. समारोह में सीएमडी पीएम प्रसाद ने रजरप्‍पा क्षेत्र को कोयला मंत्रालय द्वारा प्रेषित स्‍वच्‍छता का ‘प्रथम पुरस्‍कार’ प्रदान किया. यह पुरस्कार रजरप्‍पा क्षेत्र की ओर से महाप्रबंधक आलोक कुमार एवं टीम ने प्राप्‍त किया.

इस अवसर पर निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) भोला सिंह, निदेशक (कार्मिक) विनय रंजन एवं सीवीओ एसके सिन्‍हा ने स्‍वच्‍छता के क्षेत्र में उत्‍कृष्‍ट कार्य के लिए क्षेत्रों के सीएसआर के नोडल अधिकारियों को भी पुरस्‍कृत किया.

रजरप्‍पा क्षेत्र द्वारा स्‍वच्‍छता माह में स्‍वच्‍छता संबंधी विभिन्‍न कार्य जैसे कोरोना समय में अस्‍पतालों का पूर्ण सैनीटाईजेशन, आसपास के क्षेत्र में नालियों की सफाई, झाडि़यों की कटाई, स्‍थानीय दुकानदारों के बीच कागज का कप एवं पेपर स्‍ट्रा का वितरण, सफाई कर्मियों के बीच ग्‍लब्‍स एवं फेस मास्‍क आदि का वितरण तथा सभी को इसका उपयोग करने के लिए प्रेरित किया गया.

सीएमडी पीएम प्रसाद ने बधाई दी

सीएमडी पीएम प्रसाद ने रजरप्‍पा क्षेत्र द्वारा स्‍वच्‍छता के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए उन्‍हें बधाई दी. साथ ही कहा कि रजरप्‍पा टीम ने दूसरे क्षेत्रों के लिए एक उदाहरण प्रस्‍तुत किया है. यह हम सभी को और बेहतर करने के लिए प्रेरित करता है.

वहीं निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) भोला सिंह ने कहा कि रजरप्‍पा क्षेत्र की टीम अपने उत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन के लिए बधाई के पात्र है. हम सभी को जहां भी अवसर मिले, अवसर का लाभ उठाते हुये स्‍वच्‍छता संबंधी कार्य करना करना चाहिए.

निदेशक (कार्मिक) विनय रंजन ने कहा कि रजरप्‍पा स्‍वच्‍छता के क्षेत्र में एक उदाहरण प्रस्‍तुत किया है. स्‍वच्‍छता संबंधी कार्यक्रम पूरे सीसीएल में सतत जारी है. उन्‍होंने कहा कि भारत सरकार की मुहिम ‘स्‍वच्‍छता ही सेवा’ के अंतर्गत आयोजित स्‍वच्‍छता माह में अपने कार्यालयों, कालोनी एवं आसपास के स्‍थानों को स्‍वच्‍छ रखने के लिए अपने कर्मियों सहित आमजनों में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से विभिन्‍न कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.