गांवों में मकर संक्रांति और टुसू का उत्सव मना रहे नेताजी

Ranchi: झारखंड के सभी बड़े नेता, विधयाक, सांसद अपने-अपने गांवों में उत्सव मना रहे हैं. गांवों में सोहराय, जतरा, मकर संक्रांति और टुसू की धूम है. नेता भी इन उत्सवों में खुशियां बांटने के लिए खुद को रोक नहीं सके. गांवों में कई कार्यक्रमों के आयोजन में राजनेता शिरकत कर रहे हैं. चुनावों का मौसम है. लिहाजा नेताओं की पहुंच आमजन के बीच भी देखी जा रही है.

निशिकांत ने लिया माता-पिता का आशीर्वाद

गोड्डा से बीजेपी के सांसद निशिकांत दूबे ने अपने फेसबुक पोस्ट पर कई तस्वीरें साझा की है. अपने गांव में माता- पिता से मकर संक्रांति का आशीर्वाद लेते हुए दिख रहे हैं.
इन सबके बीच पतंगबाजी की तस्वीर साझा करते हुए उन्होंने लिखा है, “एक ही समानता है पतंग और जिंदगी में, ऊचाई पर हो तब तक वाह- वाह होती है”.

धोती-कुर्ता में अर्जुन मुंडा

राज्य के पूर्व मंत्री अर्जुन मुंडा जमशेदपुर स्थित अपने आवास पर मकर संक्रांति मना रहे हैं. उनके कई मित्र भी उन्हें संक्रांति की बधाई देने पहुंचे हैं. अर्जुन मुंडा धोती- कुर्ता पहने हैं.

ढेकी कूटती मेनका सरकार

सिंहभूम में बीजेपी की विधायक मेनका सरकार टुसू के मौके पर गांवों में निकली, तो ढेकी कूटने सो खुद को रोक नहीं सकी.
गांव की एक महिला टुसू के पकवान के लिए नया चावल कूट रही थीं. मेनका कहती हैं कि परंपरा, रिवाज में जीना ही पर्व- त्योहार को जीवंत बनाता है.

लुइस मरांडी ने की पतंगबाजी

उधर राज्य की महिला समाज कल्याण मंत्री डॉ लुइस मरांडी ने 14 जनवरी को दुमका में पतंगबाजी कर संक्रांति की खुशियां बांटती हुई दिखाई पड़ रही हैं. इससे पहले उन्होंने सामूहिक तौर पर दही-चूड़ा खाकर मुंह मीठा किया.

टुसु मना रहे राजकिशोर

आजसू के विधायक राजकिशोर महतो ने अपने क्षेत्र में करमाटांड़ मैदान में टुसू मेला में शामिल हुए. वे पापंरिक वेश में दिखे. राजकिशोर महतो कहते हैं कि टुसू झारखंड में संस्कृति की पहचान है.

ग्रामीणों के साथ दही-चूड़ा

सोमवार को कांग्रेस के विधायक मनोज यादव कोडरमा जिले के चंदवारा स्थित दोमुहानी वैकुंठधाम में आयोजित मक्रर संक्रांति मेले में पहुंचे थे. वे गांवों के लोगों के साथ पात में बैठकर दही- चूड़ा खाते दिख रहे हैं.

मंकर संक्रांति के अवसर पर सिमडेगा के भंवरपहाड (कोलेबिरा) में आदिवासी-सदान सांस्कृतिक समिति के तत्वावधान में आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में पूर्व मंत्री थियोदोर किड़़ो जब पहुंचे, तो पारंपरिक तरीके से उनका स्वागत हुआ.
भंवर पहाड पर साल 2001 से पांरपिरक और सास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होता रहा है. पूर्व मंत्री ने जन समूह को नव वर्ष और मंकर संक्रांति की शुभकामनाएं दीं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.