Take a fresh look at your lifestyle.

Makar Sankranti 2019: अंतरराष्‍ट्रीय महोत्‍सव है ‘मकर संक्रांति’, भारत के साथ 5 देशों मनायी जाती है त्‍योहार

0

नए साल में सबसे पहले मनाया जाने वाला पर्व मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2019) है. उमंग और उल्लास का प्रतीक मकर संक्रांति एक ऐसा त्योहार है, जो केवल भारत (India) ही नहीं बल्कि दुनिया के कुछ अन्य देशों में भी मनाया जाता है. हमारे देश में भी ऐसे कई राज्य हैं, जहां मकर संक्रांति को विभिन्न नामों से जाना जाता है. उत्तर भारत में जहां ये मकर संक्रांति, माघी कहलाती है, वहीं तमिलनाडु में इसे पोंगल, पंजाब में लोहड़ी और असम में बिहू कहते हैं. आइए जानते हैं कि दुनिया भर में कहां-कहां मनाया जाता है मकर संक्रांति.

मकर संक्रांति का नाम कैसे पड़ा (Makar Sankranti Festival)

इस पर्व का नाम मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2019), सूर्य के राशि परिवर्तन करने के कारण पड़ा है. दरअसल, सूर्य की एक राशि से दूसरी राशि में जाने की प्रक्रिया को ही संक्रांति कहते हैं. सूर्य के धनु से मकर राशि में प्रवेश करने के कारण इसे ‘मकर संक्रांति’ (Makar Sankranti) कहा जाता है. इस त्योहार के वैज्ञानिक पक्षों की बात करें तो ये ठंडी के मौसम के जाने का सूचक है. इसके बाद से मौसम में गर्माहट आने लगती है. वसंत का आगमन (Spring) भी इसी दिन से माना जाता है.

अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव (Antarrashtriye Patang Mahotsav)

यह त्योहार बच्चे बहुत पसंद इसलिए करते हैं, क्योंकि इस अवसर पर, बच्चे ही नहीं बड़ों को भी पतंग उड़ाना खूब भाता है. कुछ स्थानों पर तो लोग सामूहिक रूप से किसी बड़े मैदान में एकत्रित होकर पतंगें उड़ाते हैं (Kite Flying in Makar Sankranti). तरह-तरह के आकार और रंगों वाली ढेरों पतंगें जब आसमान में झूमने लगती हैं तो सच में उसे देखकर बड़ा मजा आता है. आपको यह जानकर अचरज होगा कि इस त्योहार पर कुछ अन्य देशों में भी पतंगें उड़ाई जाती हैं.

थाईलैंड की मकर संक्रांति

मकर संक्रांति थाईलैंड में भी मनाया जाता है. वहां इस पर्व को ‘सॉन्कर्ण’ के नाम से जाना जाता है. एक समय में थाइलैंड (Makar Sankranti in Thailand) में हर राजा की अपनी विशेष तरह की पतंग होती थी, जिसे जाड़े के मौसम में भिक्षु और पुरोहित देश में शांति और खुशहाली की कामना के साथ उड़ाते थे. इसी परंपरा के अनुसार थाइलैंड के निवासी आज भी पतंग उड़ाते हैं.

नेपाल की मकर संक्रांति

अपने पड़ोसी देश नेपाल के सभी प्रांतों में अलग-अलग नाम और तरह-तरह के रीति-रिवाजों से यह त्योहार उत्साह के साथ मनाया जाता है. इस दिन वहां के किसान अपनी अच्छी फसल के लिए भगवान को धन्यवाद देकर सदा कृपा बनाए रखने की प्रार्थना करते हैं. (Makar Sankranti In Nepal) मकर संक्रांति को इसी कारण यहां फसलों और किसानों के त्योहार के रूप में भी जाना जाता है. इस अवसर पर तीर्थस्थलों और नदियों के संगम में स्नान करते हैं और तिल, घी, शर्करा और कंदमूल खाते हैं.

कंबोडिया की मकर संक्रांति

कंबोडिया के लोग मकर संक्रांति को ‘मोहा संगक्रान’ के नाम से मनाते हैं (Makar Sankranti in Cambodia). कंबोडिया में नए साल के आगमन और पूरे साल खुशहाली बने रहने के लिए मकर संक्रांति मनाते हैं.

श्रीलंका की मकर संक्रांति

श्रीलंका में मकर संक्रांति मनाने का ढंग ‘पोंगल’ से मिलता-जुलता है. यहां इस पर्व को ‘उजाहवर थिरुनल’ के नाम से मनाया जाता है. कुछ लोग वहां इसे कहते भी ‘पोंगल’ ही हैं क्योंकि श्रीलंका में भारतीय तमिल समुदाय के लोगों की अच्छी-खासी संख्या है.

म्यांमार की मकर संक्रांति

म्यांमार की बात करें तो यहां मकर संक्रांति (Makar Sankranti in Myanmar) का एक अलग ही रूप देखने को मिलता है. इसे ‘थिनज्ञान’ के नाम से मनाया जाता है, जो बौद्धों से जुड़ा हुआ है. यह त्योहर लगभग 3-4 दिन तक चलता है. नए साल के आगमन की खुशी में भी यह पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More