Unclock-1: सावधान! झारखंड में लॉकडाउन छूट के आदेश, ध्‍यान दें कहीं और मजबूत न हो जाए कोरोनावायरस की चेन

by

Ranchi: झारखंड की अर्थव्‍यवस्‍था को पटरी पर लाने के लिए केंद्रीय गाइडलाइन का पालन करते हुए छूट का ऐलान कर दिया गया है. अब 2 जनू से आर्थिक गतिविधि को शुरू करने के लिए कई सेवाओं को बहाल करने का आदेश जारी किया गया है. व्‍यवसायिक प्रतिष्‍ठान और कई तरह की सेवाएं शुरू की गई हैं. वहीं इसका फायदा उठाने के लिए ऑटो रिक्‍शा, ई-रिक्‍शा, साइकिल रिक्‍शा जैसे कमर्शियल वाहनों के चलने की अनुमति दी गई है. कुल मिलाकर सभी जगह गांव हो या शहर हो चहल-पहल पहले की तरह शुरू हो गई है.

वहीं दूसरी ओर झारखंड में हर पल कोरोना संक्रमण के नए मामले सामने आ रहे हैं. एक जून शाम 8 बजे तक यहां कुल 863 मामले सामने आए हैं.

लॉकडाउन में छूट में ऐतिहात खुद के जिम्‍मे

एक ओर झारखंड में लॉकडाउन में छूट के साथ कई गैर-जरूरी व्‍यवसायिक प्रतिष्‍ठानों और आर्थिक सेवाओं को बहाल करने का आदेश दिया गया है. इस दौरान सभी लोगों के लिए कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जिम्‍मेदारी बढ़ गई है. मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट करते हुए लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि घरों से बिना मास्क कोई भी बाहर नहीं निकलें. सोशल डिस्टेंस के नियमों का पूरा पालन करें. घर के बुजुर्गों का खास ध्यान रखें. अपने हाथों को पानी एवं साबुन से 20 सेकेंड तक धोएं. लॉकडाउन में ढील है, लेकिन इन एहतियातों में छूट नहीं है. करबद्ध आग्रह इन नियमों का कड़ाई से पालन करें.

लॉकडाउन में छूट के आदेश

• मोबाइल सर्विस सेंटर, घड़ी दुकानें, इलेक्ट्रानिक दुकानें, टीवी और कम्यूटंर से संबंधित सभी दुकानें, कॉल सेंटर
• भारी मशीनरी, जनटेरटर, आईटी के हार्डवेयर पाट्स, नेटवर्किंग से संबंधित सामग्री, सॉफ्टेवयर और टेलीकॉम से संबंधित सामग्री
• ऑटोमोबाइल सेक्टर
• ज्वेलरी, चश्मे की दुकान, किचन से संबंधित सारी दुकानें, फर्नीचर, गैरज, मोटर वर्कशॉप,
• ग्राहकों को बैठकर नहीं खोलने जाने के शर्त पर रेस्टॉरेंट खोले जाएंगे.
• एक जिले से दूसरे जिले में ट्रांसपोर्टिंग होगी. रिक्शा, टेंपो, ई-रिक्शा और नॉर्मल रिक्शा का परिचालन होगा.

अब सरकार राजस्‍व बढ़ाने में लगी हुई है. कोरोना वायरस से जंग सीधे जनता के हाथों पर है. सावधानी हटी तो कोरोना का संक्रमण तय. जिस चेन को तोड़ने के लिए पूरे देश की सवा सौ करोड़ के लोग घरों में कैद रहे, वह कहीं बेकार न हो जाये.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.