हज 2021 आवेदन की आखिरी तारीख 10 दिसंबर से बढ़ा दिया गया, जानें कब तक कर सकते हैं अप्‍लाई

by

New Delhi: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने गुरुवार को बताया कि हज-2021 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि को आज 10 दिसंबर से आगे बढ़ा दिया गया है. इसके साथ ही हज यात्रियों के अनुमानित खर्च में भी कमी की गई है.

मंत्री के कार्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, प्रति तीर्थयात्री अनुमानित खर्च को रवानगी केन्द्रों के अनुसार कम कर दिया गया है. नकवी ने यह भी कहा कि हज जून-जुलाई 2021 में होना निर्धारित है। कोविड-19 महामारी के मद्देनजर सऊदी अरब और भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार पूरी प्रक्रिया चल रही है.

हज 2021 के लिए 10 जनवरी 2021 तक कर सकते हैं आवेदन

नकवी ने यहां भारतीय हज कमेटी की बैठक की अध्यक्षता की, जिसके बाद उनके हवाले से जारी बयान में कहा गया है, ‘आज यानी 10 दिसंबर हज 2021 के लिए आवेदन का अंतिम दिन था. अब इस तारीख को बढ़ाकर 10 जनवरी 2021 कर दिया गया है.’

बयान में कहा गया है कि हज 2021 के लिए अब तक 40 हजार से अधिक आवेदन मिल चुके हैं. इनमें 500 से अधिक वे महिलाएं भी शामिल हैं, जिन्होंने ‘मेहरम’ श्रेणी (पुरुष साथी के बिना हज पर जाना) के तहत आवेदन किया है.

बयान के अनुसार हज 2020 के लिये 2,100 महिलाओं ने इस श्रेणी के तहत आवेदन किया था. उनके आवेदन अभी वैध हैं, इसलिए वे अगले साल हज पर जाएंगी. इसके अलावा इस श्रेणी में नए आवेदन भी स्वीकार किए जा रहे हैं. इस श्रेणी के तहत हज पर जाने की इच्छुक महिलाओं को लॉटरी व्यवस्था से अलग रखा जाएगा.

नकवी ने कहा कि सऊदी अरब से फीडबैक मिलने और उसपर चर्चा के बाद प्रति हज यात्री अनुमानित खर्च को रवानगी केंद्रो के अनुसार कम कर दिया गया है. हज 2021 पर जाने के लिए 10 रवानगी केंद्र अहमदाबाद, बंगलूरू, कोचीन, दिल्ली, गुवाहाटी, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई और श्रीनगर हैं.

ऑनलाइन और मोबाइल एप्‍प से कर सकते हैं आवेदन

हज के लिए आवेदन, ऑनलाइन और मोबाइल एप्प के जरिए एवं ऑफलाइन माध्यम से किए जा रहे हैं. नकवी ने कहा, ‘रवानगी केन्द्र (इम्बार्केशन प्वाइंट) के अनुसार हज 2021 के खर्च के आकलन एवं सऊदी अरब से प्राप्त फीडबैक के आधार पर प्रति हज यात्री सम्भावित खर्च भी कम किया गया है.

वर्तमान आंकलन के मुताबिक, अहमदाबाद और मुंबई रवानगी केंद्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 30 हजार रुपये; बंगलूरू, लखनऊ, दिल्ली और हैदराबाद रवानगी केंद्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 50 हजार रुपये खर्च करने होगे.’

उनका कहना है कि कोच्चि एवं श्रीनगर रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 60 हजार रुपये; कोलकाता रवानगी केन्द्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 3 लाख 70 हजार रूपये और गुवाहाटी रवानगी केंद्र से जाने वाले हज यात्रियों को लगभग 4 लाख रुपये प्रति हज यात्री खर्च करना होगा.

नकवी ने कहा, ‘हज 2021 में, कोविड-19 महामारी की वजह से उत्पन्न हालात के मद्देनजर राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रोटोकॉल गाइडलाइन्स का मुस्तैदी से पालन किया जाएगा.’

मंत्री के मुताबिक, संपूर्ण हज प्रक्रिया, सऊदी अरब की सरकार एवं भारत सरकार द्वारा कोरोना आपदा के मद्देनजर तय किये जाने वाले पात्रता मानदंड, आयु मानदंड, स्वास्थ्य परिस्थिति एवं अन्य जरुरी दिशानिर्देशों के अनुसार हो रही है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.