Take a fresh look at your lifestyle.

लालू परिवार के भाइयों में टशन, तेजप्रताप दे दिया पद से इस्‍तीफा

0

Patna: तेजप्रताप यादव के बगावती तेवर से लालू परिवार में भूचाल आ गया है. तेज के महत्‍वपूर्ण पद से इस्‍तीफे के बाद लालू परिवार में कुछ ठीक नहीं चलात दिख रहा है. लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने एक बार फिर लालू परिवार की टेंशन बढ़ा दी है.

तेजप्रताप (Tej Pratap Yadav) ने ट्वीट कर छात्र राष्‍ट्रीय जनता दल के संरक्षक पद से इस्‍तीफा देने की घोषणा की है. उन्‍होंने ट्वीट किया, ‘छात्र राष्ट्रीय जनता दल के संरक्षक के पद से मैं इस्तीफा दे रहा हूं. नादान हैं वो लोग जो मुझे नादान समझते हैं. कौन कितना पानी में है सबकी है खबर मुझे.’

खबर ये भी है कि तेजप्रताप यादव ने न केवल दो सीटों पर पार्टी के उम्मीदवार उतारने का एलान किया बल्कि प्रत्याशियों के नाम की भी घोषणा कर दी. तेजप्रताप और उनके छोटे भाई तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) के बीच तीखी प्रतिद्वंद्विता की अटकलों के बीच अचानक हुआ यह घटनाक्रम पार्टी के लिये बड़ी शर्मिंदगी की वजह बन गया है. तेजस्वी को राजद सुप्रीमो ने अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी घोषित किया है.

हालांकि उससे पहले एक ट्वीट में तेजप्रताप छात्र राजद का प्रदेश अध्‍यक्ष चुने जाने पर गगन यादव को बधाई देते हुए ट्वीट करते हैं.

लेकिन अचानक ऐसा क्‍या हुआ कि उन्‍होंने छात्र राजद का संरक्षक पद छोड़ने का निर्णय ले लिया. माना जा रहा है कि तेजप्रताप ने यह ट्वीट सोच समझकर किया है क्‍योंकि अगले 24 से 48 घंटों में उनकी पार्टी राजद के बाकी बचे 16 उम्मीदवारों की सूची जारी हो जाएगी. जिसमें वो अपने पसंदीदा दो लोगों को टिकट दिलाना चाहते थे. इससे भी बड़ी बात यह है कि वह नहीं चाहते थे कि चंद्रिका राय, जो अब रिश्‍ते में उनके ससुर लगते हैं, उन्‍हें टिकट दिया जायें. लेकिन शायद उन्‍हें अंदाजा है कि उनके पिता लालू प्रसाद यादव और छोटे भाई तेजस्‍वी यादव जो फिलहाल पार्टी के सर्वेसर्वा हैं, ने चंद्रिका राय की उम्‍मीदवारी पर मुहर लगा दी है. शायद तेज प्रताप यह मानकर चल रहे हों कि उनके इस ट्वीट के बाद उनकी बात मान ली जाएगी.

बीते कुछ समय से लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रपात जिस तरह से राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं, उससे राजद की परेशानियां बढ़ती रही हैं. राजनीतिक सक्रियता बढ़ाने को अमादा तेजप्रताप की वजह से राजद में कई बार फूट की खबरें आई हैं. दरअसल, राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं की परेशानी है कि जब से उनकी पार्टी के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने पटना में अपनी राजनीतिक सक्रियता बढ़ायी है, तब से ऐसे कई मौके आए हैं जब पार्टी की किरकिरी और फ़ज़ीहत हुई है. हालांकि, यह बात और है कि अपने बयानों से तेजप्रताप हर दिन मीडिया में सुर्खियां तो बटोर ले रहे हैं.

बिहार में इस पर सात चरणों में लोकसभा चुनाव संपन्‍न होंगे.

11 अप्रैल : जमुई औरंगाबाद, गया, नवादा,
18 अप्रैल : बांका, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर
23 अप्रैल : खगड़िया, झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा,
29 अप्रैल : दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर
6 मई : मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सारन, हाजीपुर, सीतामढ़ी,
12 मई : पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, , शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सिवान, महाराजगंज, वाल्मीकिनगर
19 मई : नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकट, जहानाबाद

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More