छठ नहीं मना पाये लालू यादव की मकर संक्रांति भी जेल में ही कटेगी, जमानत 6 सप्‍ताह के लिए टली

by

Ranchi: राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की जमानत याचिका पर छठ के पहले से ही ग्रहण लग रहा है और अब बेल एक बार फिर 6 सप्‍ताह के लिए टल गया है. अब लालू यादव की मकर संक्रांति जेल में ही कटेगी.  

उम्‍मीद की जा रही थी थी कि जमानत नहीं मिलने के कारण लालू यादव छठ भले ही नहीं मना पाए, लेकिन वह मकर संक्राति जेल के बाहर अपने परिवार और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ जरूर मना सकेंगे. लेकिन अब हाईकोर्ट में जमानत याचिका 6 सप्‍ताह के लिए टल जाने के बाद वह मकर संक्रांति के दौरान जेल की कस्‍टडी में रहते हुए रिम्‍स के वार्ड में ही रहेंगे.

झारखंड हाईकोर्ट ने लालू यादव की जमानत की अर्जी पर सुनवाई 6 सप्‍ताह के लिए टाल दी है. ऐसे में अब लालू यादव को फिलहाल जेल में ही रहना होगा.

Read Also  किसानों का हक दिलाने के लिये किसान मोर्चा संघर्ष तेज करें: दीपक प्रकाश

लालू प्रसाद यादव के वकील प्रभात कुमार ने बताया कहा कि हमें सजा की अवधि का सर्टिफाइड कॉपी नहीं मिली है. इसको लेकर उनकी तरफ से कोर्ट से 6 सप्ताह का समय मांग गया.

वहीं सीबीआई की तरफ सीबीआई के वकील की माता जी का देहांत हो जाने के कारण उन्होंने भी कोर्ट से सुनवाई के लिए समय मांग लिया है. जिसके मद्देनज़र लालू यादव की जमानत याचिका की सुनवाई 6 हफ्ता के लिए बढ़ा दिया गया है.

लालू यादव के वकील प्रभात कुमार का कोर्ट से 6 सप्ताह का समय मांगे जाने के बाद यह कयास लगाया जा रहा है कि 22 जनवरी 2021 में अगली सुनवाई हो सकती है.

बता दें कि लालू यादव होटवार जेल के बंदी हैं और रिम्‍स में अपने खराब स्‍वास्‍थ्‍य का इलाज करा रहे हैं. वह यहां सबसे लंबे अरसे तक इलाज कराने वाले मरीज के तौर पर रिकॉर्ड बना चुके हैं.

Read Also  सदर अस्पताल रांची कोविड सहायता केंद्र से सहायता के लिए 9341496619 पर कॉल करें

दोनों ही पक्षों की ओर से खंडपीठ से समय देने का आग्रह किया गया, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया. बता दें कि डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले में दोषी लालू यादव ने हाईकोर्ट में जमानत की अर्जी दाखिल की थी.

चारा घोटाला के पांचवे मामले पर लालू की जमानत अटकी

लालू यादव पर चारा घोटाला से जुड़े कई मामले दर्ज हैं. शुक्रवार को होने वाली सुनवाई इस घोटाले का पांचवा मामला था. यह डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से जुड़ा है. ट्रेजरी से 139 करोड़ रुपये निकाल लिए गए थे. गौरतलब है कि लालू यादव को चारा घोटाला से जुड़े तीन मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है. डोरंडा कोषागार निकासी मामले में सुनवाई के लिए 11 दिसंबर की तिथि तय की गई थी. जोकि अब आगे बढ़ा दी गयी है.

चारा घोटाले के तीन मामलों में मिल चुकी है जमानत

लालू यादव को जिन चार मामलों में सजा मिली है, उसके खिलाफ उन्होंने हाईकोर्ट में अपील की है. इनमें से तीन मामले में उन्‍हें जमानत दी जा चुकी है. गौरतलब है कि लालू प्रसाद को सभी मामलों में आधी सजा काटने के आधार पर जमानत दी गई है. दुमका कोषागार मामले में भी उन्होंने इसी आधार पर जमानत मांगी है. साथ ही अपनी बीमारी का हवाला भी दिया है.

Read Also  अबुआ राज में आदिवासी बच्चियां सुरक्षित नहीं: आरती कुजूर

सीबीआई कर रही है लालू यादव के जमानत का विरोध

बता दें कि जांच एजेंसी सीबीआई शुरुआत से ही लालू यादव को जमानत देने का विरोध करती रही है. हालांकि, लालू यादव विभिन्‍न आधार पर जमानत की मांग कर रहे हैं. राजद प्रमुख का स्‍वास्‍थ्‍य ठीक नहीं रहता है. इस वजह से उनका ज्‍यादातर समय RIMS अस्‍पताल में ही डॉक्‍टरों की निगरानी में कटा है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.