लालू यादव को झारखंड हाईकोर्ट से मिली छह सप्ताह की बेल

by

#रांची : चारा घोटाला के चारों मामलों में गत 23 दिसम्बर 2017 से रांची के होटवार जेल में बंद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव को शुक्रवार को बड़ी राहत मिली है। जस्टिस अपरेश कुमार की सिंगल बेंच ने लालू यादव की स्वास्थ्य को देखते हुए उन्हें छह सप्ताह की औपबंधिक जमानत दे दी।

लालू प्रसाद की बेल पर बहस करने के लिए सीनियर कांग्रेस लीडर और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकीलों में शुमार अभिषेक मनु सिंघवी विशेष रूप से रांची आये थे। उन्होंने लालू यादव की खराब सेहत का हवाला देते हुए 12 सप्ताह के लिए औपबंधिक जमानत देने की अदालत से अपील की थी जिसे हाईकोर्ट ने मंजूर करते हुए उन्हें छह सप्ताह के लिए औपबंधिक जमानत दे दी।

Read Also  Modi 2.0: 7 राज्यों की विधानसभा चुनाव के पहले कैबिनेट में बड़े बदलाव की तैयारी

इससे पूर्व अदालत ने लालू यादव के छोटे बेटे और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, राजद के दो वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह और शिवानंद तिवारी को सीबीआई की स्‍पेशल कोर्ट की अवमानना के मामले में बरी कर दिया। इन लोगों ने सीबीआई की विशेष अदालत द्वारा लालू को सजा सुनाये जाने के फैसले पर टिप्पणी की थी, जिसे विशेष जज शिवपाल सिंह ने कोर्ट की अवमानना मानते हुए टिप्पणी करने वाले सभी राजद नेताओं के खिलाफ नोटिस जारी किया था।

इसके खिलाफ राजद नेताओं ने झारखंड हाइकोर्ट में अपील की थी। अपील की सुनवाई करते हुए जस्टिस अपरेश कुमार सिंह ने नोटिस को खारिज कर दिया।

गत 23 दिसंबर, 2017 को देवघर कोषागार से निकासी के मामले में विशेष जज शिवपाल सिंह ने लालू को सजा सुनायी थी। इसके बाद लालू प्रसाद को रांची के होटवार स्थित बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार भेज दिया गया। फरवरी में लालू की तबीयत खराब होने पर उन्हें रिम्स में भर्ती कराया गया था। उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए बाद में एम्स रेफर कर दिया गया।

Read Also  झारखंड में पहाड़िया जनजाति के दरवाजे पर विकास की दस्तक

एम्स में इलाज पूरा होने के बाद लालू को फिर से रिम्स भेज दिया गया। लालू यादव फिलहाल अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी में शरीक होने के लिए तीन दिन की पैरोल पर पटना में हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.